काव्य गोष्ठी : एक शाम माँ के नाम- नवरात्रि पर विशेष

कोलकाता । मंजिल ग्रुप साहित्यिक मंच एवं भावांजलि मंच की सांझा काव्य गोष्ठी यूट्यूब पर बुधवार शाम 6:15 बजे से रात्रि लगभग 9:00 बजे तक चली करीब 2 घंटा 45 मिनट तक लगातार कार्यक्रम सुचारु रुप से चला। कार्यक्रम नवरात्रि विशेष था। इस कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यकार, व्यंगकार प्रशांत करण थे। बतौर मुख्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकारा, गजलकारा मधु मधुमन सादर आमंत्रित थी। वरिष्ठ साहित्यकार ग़ज़लकार कमल पुरोहित अपरिचित के संयोजन एवं भावांजलि मंच की सदस्य अंजलि गुप्ता सिफ़र द्वारा कार्यक्रम का सुंदर संचालन किया गया। अतिथियों का स्वागत कमल पुरोहित अपरिचित ने किया।

कार्यक्रम की शुरुआत मग़सम सदस्य देवानंद शाहा की सरस्वती वंदना से शुरू हुई। माता रानी पर रचना सब ने बहुत भक्ति पूर्ण श्रद्धा से सुनाया। काव्य पाठ करने वाले रचनाकार मगसम से गीता चौबे गूंज, डॉ. त्रिवेणी प्रसाद दुबे मनीष, गीता सिन्हा गीतांजलि, नंदलाल मणि त्रिपाठी पितांबर, शकुंतला शिंदे, हेमचंद्र सकलानी, मदन मोहन शर्मा सजल, अंजनी कुमार सुधाकर, मधु पालीवाल, सीमा गर्ग मंजरी, आशा दिनकर आश, भारत नायक बाबू, डॉ. भूमिका श्रीवास्तव, निर्मला करण, रमेश चंद्र द्विवेदी, नाथू लाल मेघवाल, देव आनंद शाहा, कमल अरोड़ा, वसुधा कामत, वीणा मेदनी।

भावांजलि मंच के कलमकार साथी प्रवीण सक्सेना, हेमंत बोर्डिया, सुश्रुत पंत ज़र्रा, नीता केसरी, दिव्या विरमानी, शादाब अंजुम, बाबू अली अब्र थे। तत्पश्चात मुख्य अतिथि मधु मधुमन ने कुछ शायरी द्वारा अपना उद्बोधन दिया। अध्यक्षीय उद्बोधन प्रशांत करण ने मगसम के बारे में बताते हुए अपना उद्बोधन दिया, साथ में प्रस्तुति भी दी। धन्यवाद ज्ञापन कमल पुरोहित अपरिचित ने दिया। कार्यक्रम काफी सफल रहा, इसे यूट्यूब पर देखा जा सकता है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − eleven =