मालदा । शुभारंभ के एक दिन के भीतर, हाइपरसोनिक सुपरफास्ट ट्रेन वंदे भारत पर कुछ शरारती तत्वों ने पथराव किया। ट्रेन की खिड़की व दरवाजों के शीशे तोड़ डाले। जिससे ट्रेन यात्री व ट्रेन की सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। हालांकि प्रशासन, मालदा जिला पुलिस, रेलवे पुलिस व रेलवे पुलिस अधिकारियों ने घटना की छानबीन शुरू कर दी है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि वंदे भारत ट्रेन में पथराव करने वालों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। गौरतलब है कि न्यू जलपाईगुड़ी से हावड़ा जाने वाली वंदे भारत सुपरफास्ट ट्रेन के कोच नंबर सी-13 पर सोमवार रात कथित तौर पर पथराव किया गया था। कोच के दरवाजे का एक शीशा टूट गया है। इस घटना के बाद हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली वंदे भारत मंगलवार सुबह फिर से मालदा टाउन स्टेशन में दाखिल हुई।

सोशल मीडिया पर सोमवार रात वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर हुए हमले की खबर से उस ट्रेन में सवार यात्रियों के चेहरे पर दहशत के भाव थे। यात्रियों ने यह भी मांग की कि पुलिस निगरानी को मजबूत किया जाना चाहिए। उस दिन वंदे भारत ट्रेन में यात्रा कर रहे हावड़ा निवासी अभिषेक बनर्जी ने कहा, घटना के बारे में सुनकर मैं डर गया था। लेकिन करने को कुछ नहीं था क्योंकि इसके लिए एडवांस टिकट बुक हो गए थे। उस दिन जब मैं मालदा पार कर रहा था तो उस कुमारगंज स्टेशन के पास एक दहशत का आलम था। ऐसी घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि मालदा टाउन स्टेशन घुसने से पहले हरिश्चंद्रपुर थाने के कुमारगंज इलाके में बदमाशों ने कथित तौर पर बाहर से ट्रेन में पत्थर फेंके और शीशे पर दरार आ गयी। उसके बाद रेल यात्रियों में दहशत फैल गई। रेलवे अधिकारियों ने घटना का पता लगाने के साथ ही गहन जांच शुरू कर दी है। जिला पुलिस, प्रशासन और रेलवे अधिकारियों के प्रारंभिक अनुमान है कि मालदा टाउन में प्रवेश करने से करीब 25 किमी पहले किसी ने जानबूझकर ट्रेन पर पत्थर फेंके। जो वंदे भारत के सी-13 कोच के दरवाजे से टकराया और दरवाजे के शीशे का एक हिस्सा टूट गया। बदमाशों द्वारा पथराव कर ट्रेन के शीशे तोड़ दिए गए। यात्री दहशत में आ गए। वंदे भारत एक्सप्रेस को किसने निशाना बनाया, इसका पता लगाने के लिए रेलवे अधिकारियों द्वारा पहले ही जांच के आदेश दिए जा चुके हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + eighteen =