लेक्सस इण्डिया ने लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड इण्डिया-2024 की घोषणा की

  • विजेता प्रविष्टि को मिलेगा मिलान डिज़ाइन वीक-2024 में लेक्सस डिज़ाइन इवेंट का अनुभव करने का मौका

कोलकाता : लेक्सस इण्डिया ने अपने सबसे प्रसिद्ध लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड इण्डिया 2024 (एलडीएआई) के सातवें एडिशन के लिए प्रविष्टियों के लिए आमंत्रण की घोषणा की है, जो डिज़ाइन प्रॉफेशनल्स के लिए अपनी प्रतिभा और रचनात्मकता दिखाने का एक अनूठा मंच है। प्रविष्टियां 20 जुलाई से आना शुरू हो चुकी है जो 30 सितम्बर 2023 तक स्वीकार की जाएंगी। लेक्सस इण्डिया डिज़ाइन प्रॉफेशनल्स से नवीन विचारों की तलाश कर रहा है जो डिज़ाइन और टेक्नोलॉजी की क्षमता के माध्यम से सभी के लिए एक समृद्ध और बेहतर भविष्य में योगदान करते हैं।

एलडीएआई को 2018 में अपने पहले संस्करण के बाद से जबरदस्त सराहना और प्रतिक्रिया मिली है। विगत 6 वर्षों में, एलडीएआई को देश भर से 4300 से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त हुईं, जिनमें प्रतिभागियों ने बेहतर कल बनाने के उद्देश्य से अपने अनूठे डिज़ाइन साझा किए हैं। तैयार किए गए डिज़ाइन हैल्थकेयर, ऊर्जा संरक्षण, सस्टेनेबल गुड्स और वेस्ट मैनेजमेंट जैसे कई क्षेत्रों में समस्याओं को हल करने पर केंद्रित थे। लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड्स 2023 का अंतिम संस्करण, जो पिछले साल दिसम्बर 2022 में दिल्ली में हुआ था, उसमे विभिन्न श्रेणियों में 3000 से अधिक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई।

लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड इण्डिया 2024 की शुरुआत पर बोलते हुए, लेक्सस इण्डिया के प्रेसिडेन्ट श्री नवीन सोनी ने कहा, “हमें लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड इण्डिया 2024 की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है, यह एक उल्लेखनीय मंच है जो डिज़ाइन की क्षमता को उजागर करता के साथ ही देश में विभिन्न दबाव के मुद्दों को समझने सुलझाने में मददगार है। उन्होंने कहा लेक्सस इण्डिया में, हम इनोवेशन को बढ़ावा देने, सीमाओं को आगे बढ़ाने और उभरती प्रतिभा आगे बढ़ाने में दृढ़ता से विश्वास करते हैं।

यह प्रतिष्ठित पुरस्कार भारतीय डिज़ाइन कम्यूनिटी के सबसे प्रतिभाशाली लोगों को सम्मानित करने और उनके उत्थान के लिए, उनके दूरदर्शी विचारों और समाधानों को प्रदर्शित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। हम अपने देश के सामने आने वाली चुनौतियों से निपटने में डिजाइन के गहरे प्रभाव को देखकर उत्साहित हैं, क्योंकि हम एक उज्जवल और अधिक टिकाऊ भविष्य की ओर मार्ग प्रशस्त कर रहे हैं।“

https://www.amazon.in?&linkCode=ll2&tag=1805503-21&linkId=63b09f5b4167706772811a4a9157ca74&language=en_IN&ref_=as_li_ss_tl
उन्होंने अपनी बात जारी रखते हुए कहा पिछले कुछ वर्षों में एलडीएआई ने कई दिलचस्प डिजाइन देखे हैं जो समाज के लिए एक बेहतर कल का निर्माण करेंगे। कुछ डिज़ाइनों को सीमित संस्करण वाली लेक्सस कॉफ़ी टेबल बुक में संकलित किया गया है।एलडीएआई पुरस्कारों का उद्देश्य प्रतिभाशाली भारतीय डिजाइनरों द्वारा तैयार किए गए औद्योगिक डिजाइन के असाधारण कार्यों को स्वीकार करना और सम्मानित करना है और उन डिजाइनों की सराहना करना है जो समाज की भविष्य की चुनौतियों को सक्रिय रूप से सामना कर सकते हैं और एक स्थायी भविष्य को बढ़ावा देने के लिए आकर्षक और आविष्कारशील दृष्टिकोण की कल्पना करते हैं, जबकि व्यक्तियों की समग्र ख़ुशी.सहजता से वृद्धि करते हैं।

एसटीआईआर एक वैश्विक मीडिया हाउस और क्यूरेटोरियल एजेंसी है जो आर्किटेक्चर, डिजाइन और न्यू मीडिया आर्ट्स के क्षेत्र में रचनात्मकता और अग्रणी विचारों को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है, जो भारत में लेक्सस डिजाइन अवार्ड्स के लिए आधिकारिक क्यूरेटोरियल पार्टनर है।

एलडीएआई के साथ, डिजाइनरों को अपनी इनोवेटिव सोच और मौलिकता को व्यक्त करने के लिए तीन प्रमुख डिजाइन सिद्धांतों एन्टीसिपेट, इनोवेट और कैप्टिवेट द्वारा निर्देशित किया जाएगा, जो समाज के सामने आने वाली चुनौतियों का अनुमान लगाता है और आकर्षक और इनोवेटिव सॉल्यूशन्स की कल्पना करता है जो एक स्थायी भविष्य में योगदान देगा, जिससे सभी की खुशी में वृद्धि होगी।

लेक्सस डिज़ाइन अवार्ड इण्डिया 2024 निम्नलिखित 6 श्रेणियों से प्रविष्टियां आमंत्रित करेगाः

1. वैचारिक श्रेणी (कॉन्सेप्सनल केटेगरी): मौलिक विचार मूर्त रूप लेने की प्रतीक्षा कर रहे हैं ऐसी स्थिति में विविध कार्यों और आकृतियों के साथ वास्तुकला, डिज़ाइन और शिल्प का अन्वेषण करें। इस प्रकार की अमूर्त या व्यावहारिक अवधारणाएं जो वास्तविकता में बदल सकती हैं।

2. इण्डस्ट्रीयल डिजाइन: समावेशी, मानव केंद्रित (हृूमन सेन्ट्रिक) और पर्यावरण अनुकूल डिजाइन के माध्यम से उभरती जरूरतों को पूरा करें। डिजिटल एप्लिकेशन, घरेलू सामान और परिवहन उपकरण जैसे बड़े पैमाने पर उत्पादित कार्यों पर ध्यान दें।

3. टेक्सटाइल डिजाइन: बुनाई, प्रिंट और पैटर्न सहित इनोवेटिव टेक्सटाइल डिज़ाइन अपनाएं। कार्यक्षमता, सांस्कृतिक संदर्भ, शिल्प कौशल और भावना पर प्रकाश डालें।

4. फर्नीचर डिजाइन: प्रतिमानों को बदलने वाले डिजाइनरों को पहचानें। व्यावहारिक कला और विज्ञान के साथ कार्य, रूप और एर्गानॉमिक्स को बढ़ाएं। फर्नीचर प्लेसमेंट के कौशल का जमकर आनन्द लें।

5. वातावरण (एनवायरमेंट) का निर्माण: शहरी डिजाइन और वास्तुकला में रचनात्मकता, तकनीकी विशेषज्ञता और सामाजिक प्रभाव का कल्पनाशील स्थानों, बुनियादी ढांचे और सतत विकास का प्रदर्शन करें।

6. टेक डिजाइन: इनोवेटिव टेक्नोलॉजी के साथ डिज़ाइन को सम्मिलित करें। कम्पोनेन्ट, एसंबली, सस्टेनेबलिटी और परिवर्तनकारी क्षमता पर विचार करते हुए समाधान संचालित प्रविष्टियों पर ध्यान दें।

बहुप्रतीक्षित एलडीएआई 2024 का मूल्यांकन करने के लिए, लेक्सस इण्डिया को अपने प्रतिष्ठित जूरी सदस्यों की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। विभिन्न क्षेत्रों के निपुण व्यक्तियों से बनी जूरी डिजाइन की दुनिया में असाधारण प्रतिभा को पहचानने और सम्मानित करने के लिए अपनी विशेषज्ञता प्रदान करेगी।

लेक्सस डिज़ाइन अवॉर्ड इण्डिया 2024 के लिए प्रतिष्ठित जूरी का संक्षिप्त परिचय इस प्रकार है:

सुबोध गुप्ताः भारत के एक अत्यधिक प्रशंसित समकालीन कलाकार, सुबोध गुप्ता की कलात्मक प्रतिभा उनकी मंत्रमुग्ध कर देने वाली इंस्टॉलेशन के माध्यम से चमकती है। दुनिया भर की प्रतिष्ठित गैलेरीज में प्रदर्शित उनकी कृतियाँ माइग्रेशन, ग्लोबलाइजेशन और बचपन की यादों जैसे वैश्विक विषयों पर प्रकाश डालती हैं, जो दर्शकों के लिए एक गहन अनुभव का निर्माण करती हैं।

डॉ. अनुपमा कुण्डू: अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध आर्किटेक्ट, लेखिका और शोधकर्ता, टिकाऊ वास्तुकला के प्रति डॉ. अनुपमा कुण्डू के जुनून ने उन्हें कई प्रशंसाएं दिलाई हैं। सामाजिक मुद्दों को संबोधित करने पर ध्यान देने के साथ, उनके प्रोजेक्ट्स खूबसूरती से कार्यक्षमता और सार्थक रिफ्यूज का मिश्रण करती हैं, जो सांस्कृतिक संदर्भों में उनके विशाल अनुभवों को दर्शाती हैं।

वीनू डैनियल: वॉलमेकर्स के पीछे प्रमुख आर्किटेक्ट और दूरदर्शी, वीनू डैनियल का काम पर्यावरण के अनुकूल डिजाइन के प्रति उनकी प्रतिबद्धता का प्रमाण है। ईंट, मिट्टी, स्क्रैप और वेस्ट जैसी सामग्रियों के उनके काव्यात्मक उपयोग के परिणामस्वरूप विचारोत्तेजक संरचनाएं बनती हैं जो असाधारण एस्थेटिक्स प्रदान करते हुए स्थिरता को अपनाती हैं।

तरुण टहलयानी: ‘भारत के कार्ल लेगरफेल्ड‘ के रूप में विख्यात, तरूण टहलयानी की रचनात्मकता फैशन के दायरे से आगे तक फैली हुई है। आर्किटेक्ट और इंटीरियर डिजाइन के क्षेत्र में एक निपुण डिजाइनर के रूप में, वह बुटीक होटल, हॉलिडे होम और संस्थानों में अपना विशिष्ट पहचालन लाते हैं, शानदार रहने की जगह तैयार करते हैं जो सुंदरता को फिर से परिभाषित करते हैं।

गिरी वेंकटेश: एशिया प्रशांत क्षेत्र में लेक्सस की मार्केटिंग रणनीति के पीछे प्रेरक शक्ति, डिजाइन और रचनात्मकता के लिए गिरी वेंकटेश का जुनून बेजोड़ है। शुरुआत से ही लेक्सस के साथ जुड़े रहने के कारण, वह जूरी के लिए अनुभव और अंतर्दृष्टि का खजाना लेकर आए हैं, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि लेक्सस डिजाइन अवार्ड इण्डिया प्रेरणा देता रहे और इसकी अवधारणाओं को आगे बढ़ाता रहे।

ये सम्मानित प्रतिभाएं एलडीएआई 2024 के लिए प्रतिष्ठित जूरी सदस्य के रूप में हैं, जो कला, आर्किटेक्ट, फैशन और ऑटोमोटिव उद्योग के क्षेत्रों में विशेषज्ञता से परिपूर्ण हैं। उनकी पारखी नज़र और डिज़ाइन की गहन समझ असाधारण प्रतिभा और नवीनता को पहचानते हुए इस वर्ष के पुरस्कारों के परिणाम को आकार देगी।

उल्लेखनीय डिजाइन विशेषज्ञों की निर्णायक समिति विभिन्न श्रेणियों में पांच विजेताओं का चयन करेगी और फाइनलिस्टों को एक विशेष रूप से क्यूरेटेड डिजाइन कार्यशाला में विविध डिजाइन विषयों के अग्रणी और प्रतिष्ठित डिजाइन गुरुओं की एक टीम द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा। वर्कशॉप डिजाइनरों को अपने प्रोजेक्ट्स को निर्णायक पैनल के सामने प्रस्तुत करने से पहले अपनी प्रविष्टियों को परिष्कृत करने के लिए मार्गदर्शन करेगी, जो फिर प्रत्येक श्रेणी से एक विजेता का चयन किया जाएगा। उन्हें मिलान की यात्रा करने और 2024 में इटली में मिलान डिज़ाइन वीक में लेक्सस डिज़ाइन इवेंट का अनुभव करने का भी मौका मिलेगा।