नयी दिल्ली। नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री एवं नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी सेंटर) के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के केन्द्रीय कार्यालय में पार्टी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात करके दोनों राजनीतिक दलों के बीच संबंधों को मजबूत बनाने के बारे में विचार विमर्श किया। नड्डा के निमंत्रण पर प्रचंड अपनी पुत्री सुश्री गंगा दहल के साथ आज मध्याह्न भाजपा के केन्द्रीय कार्यालय पहुंचे, जहां भाजपा अध्यक्ष ने उनका आत्मीय स्वागत किया और दोनों नेताओं के बीच विभिन्न विषयों पर लंबी चर्चा हुई। इस अवसर पर विदेश मंत्री एस जयशंकर और भाजपा के विदेश विभाग के प्रमुख विजय चौथाईवाले भी उपस्थित थे।

प्रचंड की यह यात्रा ‘भाजपा को जानो’ पहल के अंतर्गत आयोजित की गयी है जिसके तहत विश्व भर के प्रमुख राजनीतिक दलों के साथ संपर्क मजबूत किया जाने का प्रयास किया जा रहा है। नड्डा ने अपने स्वागत संबोधन में प्रचंड एवं उनकी पुत्री का स्वागत करते हुए नेपाल हमेशा से भारत की पड़ोसी प्रथम की नीति के केन्द्र में रहा है। नेपाल के प्रधानमंत्री शेरबहादुर देउबा की भारत यात्रा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लुंबिनी यात्रा से दोनों देशों के संबंध सशक्त हुए हैं। अब प्रचंड की भाजपा के मुख्यालय की यात्रा दोनों राजनीतिक दलों के बीच संबंधों में प्रगाढ़ता की दिशा में मील का एक अहम पत्थर है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारी ‘भाजपा को जानो’ पहल का उद्देश्य राजनीतिक पार्टियों के बीच संबंधों को मजबूत करके द्विपक्षीय संबंध सशक्त बनाना है। प्रचंड की यात्रा से दोनों देशों एवं समाजों के बीच संपर्क बढ़ेगा। हम भाजपा एवं नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी सेंटर) के साथ विभिन्न स्तरों पर संपर्क को प्रगाढ़ बनाने के लिए तैयार हैं। हमें जल्द ही नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी सेंटर) के युवा नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करके खुशी होगी।

प्रचंड ने अपने संबोधन में भाजपा और नड्डा को उन्हें भाजपा मुख्यालय में आमंत्रित करने एवं आत्मीय स्वागत करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि हालांकि दोनों पार्टियों की विचारधाराएं अलग अलग हैं लेकिन दोनों का लक्ष्य एक है- समाज के गरीब तबके के जीवनस्तर को ऊंचा उठाना। उन्होंने भूकंप एवं कोविड महामारी के दौरान नेपाल का सहयोग करने के लिए भारत का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि नेपाल की अर्थव्यवस्था के दो महत्वपूर्ण स्तंभ जलविद्युत और पर्यटन है।

इसलिए वह भारत सरकार एवं भारत के निजी क्षेत्र से अपील करते हैं कि वे नेपाल के साथ इन दोनों क्षेत्रों में सहयोग करें। उन्होंने इस बात की सराहना की कि भारत अब नेपाल से बिजली खरीद कर रहा है। नेपाली पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के साथ व्यापार घाटा भी चिंता का एक प्रमुख विषय है जिसका समाधान किया जाना है। उन्होंने कहा कि भारत एवं नेपाल के बीच सभी लंबित विषयों को परस्पर विश्वास एवं मैत्री की भावना से सुलझाया जाना चाहिए।

बैठक के बाद नड्डा ने प्रचंड को भाजपा के मुख्यालय का भ्रमण भी कराया। नड्डा ने उन्हें पार्टी के केन्द्रीय सम्मेलन कक्ष दिखाया जहां संसदीय बोर्ड की बैठकें होतीं हैं। इसके अलावा प्रचंड ने पुस्तकालय, मीडिया रूम भी देखा और मीडिया विभाग की कार्य प्रणाली को भी समझा। प्रचंड ने किसान नेताओं से भी मुलाकात की जो भाजपा के मुख्यालय में नड्डा को धन्यवाद देने के लिए आये थे कि उन्होंने उपराष्ट्रपति पद के लिए जगदीप धनखड़ को उम्मीदवार चुना है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 1 =