फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : बंगाल सरकार ने राज्य की दो बिजली वितरण कंपनियों डब्ल्यूबीएसईडीसीएल और सीईएससी को चक्रवात ‘अम्फान’ से राज्य के विभिन्न हिस्सों में बिजली बहाल करने के लिए ठोस कदम उठाने के निर्देश दिये। चक्रवात से कोलकाता समेत राज्य के कई हिस्सों में पेड़ गिर गये और ट्रांसफार्मर तथा बिजली के खंभे क्षतिग्रस्त हो गये, जिससे बिजली की आपूर्ति बाधित हो गई।

बिजली नहीं होने की वजह से कई प्रभावित इलाकों में 20 मई की शाम से पानी की आपूर्ति भी नहीं हो रही है।  इस चक्रवात से राज्य में 86 लोगों की मौत हुई है। राज्य के गृह विभाग ने ट्वीट किया, ‘बंगाल सरकार ने शेष क्षेत्रों में भी बिजली और आवश्यक सेवाओं को बहाल करने के लिए ईमानदारी से प्रयास किये है।

सीईएससी और डब्ल्यूबीएसईडीसीएल कड़े निर्देश दिये गये हैं, टीम 24 घंटे काम कर रही हैं, नगर और राज्य निकाय सेना तथा एनडीआरएफ की मदद से  पेड़ों को हटा रहे हैं, बंगाल सरकार की सभी एजेंसियों को तैनात किया गया है।’

इन जगहों पर बहाल हुई बिजली परिसेवा

पश्चिम बंगाल राज्य बिजली वितरण कंपनी लिमिटेड (डब्ल्यूबीएसईडीसीएल) ने बताया कि गरिया, बांसड्रोनी, केस्तोपुर, बागुईहाटी, तेघोरिया, साल्ट लेक, न्यू टाउन और कोलकाता के आसपास और अन्य क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है। वहीं ‘‘बारासात, तमलुक, एगरा, कोंताई, कृष्णनगर, शांतिपुर, रानाघाट, ग्यासपुर और कल्याणी जैसे दक्षिण बंगाल के शहरों में भी बिजली की आपूर्ति फिर से शुरू कर दी गई है।’’ बता दें कि निजी बिजली कंपनी सीईएससी कोलकाता और हावड़ा में बिजली की आपूर्ति करती है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + two =