सुधीर श्रीवास्तव, लखनऊ, उत्तर प्रदेश । भारतीय संस्कृति और सामाजिक जागृति को समर्पित संस्था मां विंध्यवासिनी ट्रस्ट के तत्वावधान में साइबर क्राइम व उसके निदान विषय पर आयोजित चर्चा एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन बुधवार को गूगल मीट पर किया गया। साइबर क्राइम विषय पर चर्चा का यह आयोजन सामाजिक जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ लोक गायिका चंदा मिश्रा जी की सुमधुर सरस्वती वंदना के साथ हुआ। संस्था अध्यक्षा साधना मिश्रा विंध्य, उपाध्यक्ष सीमा त्रिपाठी, कार्यक्रम अध्यक्ष के रूप में मस्कट ओमान से टीकू वासवानी तथा संस्था के संयुक्त सचिव के रूप में इंग्लैंड से नीलम शुक्ला उपस्थित रहीं।

मुख्य वक्ता के रूप में साइबर क्राइम विशेषज्ञ अधिवक्ता राजीव रंजन मिश्र, गोरखपुर उत्तर प्रदेश व डॉ. शशि शेखर रहे। अधिवक्ता राजीव रंजन मिश्र की गरिमामई उपस्थिति से कार्यक्रम भव्यता में अपने चरम पर रही। राजीव रंजन मिश्र ने साईबर अपराधियों की मनोवृत्ति, उनके प्रकार व तरीकों का विस्तार से वर्णन किया। साथ ही दैनिक जीवन में इनसे किस तरह से बचाव किया जाए उस पर भी प्रकाश डाला। इस परिचर्चा में में देश-विदेश से प्रतिभागियों ने सम्मिलित होकर अपने-अपने श्रेष्ठ विचारों का आदान प्रदान किया व साइबर अपराधियों द्वारा फिसिंग के अपने अनुभव भी एक दूसरे से साझा किए। कार्यक्रम का समापन काव्य पाठ से हुआ।

सभी कवियों ने काव्य पाठ के द्वारा समां बांधा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुधा द्विवेदी, चंद्र कला भागीरथी, चंदा मिश्रा, डॉ. शशि कला अवस्थी, कमला सिंह, डॉ. उषा पांडे, निर्मला सिंह, शशि भूषण मिश्र उपस्थित रहे। साढ़े तीन घंटे तक चले इस शानदार कार्यक्रम का कुशल संचालक नीलू सक्सेना द्वारा किया गया। श्रेष्ठ विचारों की जानकारी के साथ ही सूझ-बूझ के साथ तकनीक का इस्तेमाल करने का संकल्प तथा आभार ज्ञापन के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − seven =