स्टॉकहोम। स्वीडन के एक यात्री जहाज में आग लगने पर लगभग 300 यात्रियों को बचाव अभियान के दौरान सुरक्षित निकाल लिया गया। स्वीडिश टेलीविजन के मुताबिक जहाज में सोमवार शाम को अचानक से आग लगी गयी थी।
बाल्टिक सागर में हालांकि खराब मौसम के कारण बचाव अभियान में रूकावट आयी है। जब यह जहाज गोटलैंड द्वीप के उत्तर में गोट्स्का सैंडन द्वीप के आसपास पहुंचा तभी अचानक से जहाज के कार डेक में आग लग गयी। गनीमत रही कि आग लगने के दौरान कोई यात्री घायल नहीं हुआ।

स्वीडिश टेलीविजन के मुताबिक जहाज में आग लगने की सूचना मिलने के बाद कई जहाजों और हेलीकाप्टरों को घटनास्थल पर भेजा गया और बाद में आग में काबू पा लिया गया। आग लगने से जहाज की विद्युत प्रणाली क्षतिग्रस्त हो गई। बिजली के बिना चालक दल लंगर नहीं डाल सकता था इसलिए स्टेना स्कैंडिका को 15 से 20 मीटर प्रति सेकंड की हवाओं के झोंकों में बहने के लिए छोड़ दिया गया।

स्वीडिश मैरीटाइम एडमिनिस्ट्रेशन के जोहान वाह्लस्ट्रॉम ने स्वीडिश टेलीविजन को बताया, जहाज को बंदरगाह तक ले जाने के लिए स्टॉकहोम के दक्षिण में न्याशमन बंदरगाह से जहाज को खीचने वाली नौका को भेजा गया था। इसके बाद जहाज पर सवार लोगों को निकालने का निर्णय लिया गया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + eleven =