मालदा। सीआईडी ​​को उसके घर से करीब 1.4 करोड़ रुपये मिलने के बाद रविवार को मालदा के गाजोल से एक मछली व्यापारी को गिरफ्तार किया गया. पुलिस को संदेह है कि 42 वर्षीय जयप्रकाश साहा से जब्त की गई नकदी सीमा पार से ड्रग्स के व्यापार से प्राप्त हुई थी। मालदा जिले के गाजोल में जयप्रकाश साहा नाम के जिस मछली व्यवसायी के घर सीबीआई ने रविवार को छापेमारी की है। वहां से भारी मात्रा में नगदी की बरामदगी के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी ने साहा के करीबी पड़ोसियों सहित पूरे इलाके को पूरी तरह से हैरान कर दिया। उन्होंने कहा कि उनकी जीवनशैली में ऐसा कुछ भी नहीं था जो समृद्धि की ओर इशारा करता हो।

सुबह करीब साढ़े दस बजे जब साहा के घर पर सादी वर्दी में सीआईडी ​​अधिकारियों की 10 सदस्यीय टीम पहुंची तो सभी हैरान रह गए। लो प्रोफाइल रहने वाला साहा मोहल्ले के तालाबों को पट्टे पर देकर मछली का व्यापार करता है। सीआईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया है कि उसके घर से एक करोड़ 39 लाख रुपये नगदी बरामद हुए हैं। इसके अलावा कई सारे संदिग्ध दस्तावेज मिले हैं, जिससे संबंधित पुख्ता जवाब उसके पास नहीं था। इतनी भारी मात्रा में नगदी कहां से आया और घर पर क्यों रखा था,

इस बारे में भी वह सीआईडी अधिकारियों को कुछ नहीं बता पाया। जिसके बाद उसे देर शाम गिरफ्तार कर लिया गया है।सीआईडी की टीम ने रविवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे जयप्रकाश साहा के गाजोल स्थित घर पर छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक जयप्रकाश के बेडरूम में पलंग के नीचे एक बैग रखा हुआ था। उस बैग से मोटी रकम बरामद हुई थी। हालांकि, एक मछुआरे के घर में इतनी नगदी क्यों मिली, इसका जवाब जांचकर्ताओं को नहीं मिला है।

सूत्रों के मुताबिक जयप्रकाश को गजोल थाने ले जाया गया। उसे सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। आज जो नगदी बरामद हुई उनमें से ज्यादातर 500 और 100 रुपये के नोट है। सीआईडी सूत्रों के मुताबिक, यह पैसा गौ तस्करी समेत विभिन्न अवैध कारोबारों से जुड़ा हो सकता है। उन्हें लगता है कि इन सभी सवालों के जवाब पाने के लिए जयप्रकाश से पूछताछ करना जरूरी है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × four =