कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के सांसद अर्जुन सिंह के तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में लौटने के एक दिन बाद भाजपा की पश्चिम बंगाल में दरार गहराती नजर आ रही है। दरअसल, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव अनुपम हाजरा ने  पार्टी में आत्मावलोकन की जरूरत बताई, जिस पर पार्टी के उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि विषय को थोड़ा या बिल्कुल नहीं जानने वाले नेताओं को शीर्ष नेतृत्व को ज्ञान देने के बजाय सड़कों पर उतरना चाहिए। हाजरा ने सिंह के भाजपा छोड़ने का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी को ‘सब कुछ ठीक है’ जताने की बजाय गड़बड़ियों को दूर करना चाहिए। हाजरा ने ट्वीट किया, ‘‘अगर कोई व्यक्ति पार्टी छोड़ता है, और आप यह कहते हैं कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा, तो यह रवैया ठीक नहीं है। हमें यह स्वीकार करना पड़ेगा कि इसका प्रभाव पड़ेगा। हमें यह आत्मावलोकन करना चाहिये कि लोग (भाजपा) क्यों छोड़ रहे हैं?’’

हाजरा 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले टीएमसी छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए थे। उल्लेखनीय है कि बंगाल में विपक्षी भाजपा को एक और झटका देते हुए सिंह रविवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में फिर से शामिल हो गए और इसे अपनी ‘घर वापसी’ करार दिया। हाजरा ने कहा कि ऐसे समय में जब पार्टी को नगर निगम का चुनाव जीतने में कठिनाई हो रही है, तब एक बड़े पद पर बैठा व्यक्ति पार्टी छोड़ता है तो वस्तुत: उसका प्रतिकूल प्रभाव होगा। हाजरा ने बाद में एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा, ‘‘हमें वास्तविकता को स्वीकार करना चाहिये। इसकी अनदेखी करने से किसी भी उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी। ‘सब कुछ ठीक है’ वाला रवैया ठीक नहीं है। हाजरा के बयान पर घोष ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा की प्रदेश इकाई की आलोचना करने वालों को पहले आत्मावलोकन करना चाहिए और यह पता करना चाहिए कि उन्होंने पार्टी के लिए क्या किया है।

घोष ने कहा, ‘‘मैं उनसे कहूंगा कि उपदेश देने के बजाय, वे पहले इस बारे में आत्मावलोकन करें कि उन्होंने पार्टी के लिए क्या किया है और पार्टी ने उनके लिए क्या किया है। पिछले एक साल में वह कितने आंदोलन का हिस्सा रहे हैं। जो लोग वातानुकूलित (एसी) कमरों की राजनीति करने में रूचि रखते हैं उन्हें दूसरों को ज्ञान नहीं देना चाहिए। ’’ पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई ने अंदरूनी कलह के बीच, खुद को एकजुट रखने पर चर्चा करने और असंतुष्ट नेताओं की शिकायतों को दूर करने के लिए सोमवार को एक बैठक में गहन मंथन किया। न्यूटाउन के एक होटल में बंद कमरे में हुई बैठक में भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के प्रमुख सुकांत मजूमदार, पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी, पार्टी के सह-प्रभारी (पश्चिम बंगाल) अमित मालवीय और अन्य वरिष्ठ नेता शरीक हुए।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − one =