नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या से जुड़े संदिग्ध आतंकी गिरोहों की तलाश के सिलसिले में सोमवार को दिल्ली समेत पांच राज्यों में विभिन्न स्थानों पर छापे मारे। एनआईए सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में झरोदाकलां एवं अलीपुर तथा अन्य इलाकों में गैँगस्टर लॉरेंस बिश्नोई, काला जठेड़ी, टिल्लू ताजपुरिया और नीरज बवानिया के ठिकानों पर छापे मारे गये। यह कार्रवाई हरियाणा, पंजाब, राजस्थान सहित अन्य राज्यों में भी जारी है। हाल ही में मूसेवाला मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने लॉरेंस बिश्नोई-गोल्डी बरार (कनाडा स्थित गैंगस्टर) गिरोह के तीन शार्पशूटरों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह भी पता चला है कि ये तीनों आरोपी कुलदीप उर्फ कशिश और प्रियवर्त उर्फ फौजी के सीधे संपर्क में रहने के लिए कुछ ऐप का इस्तेमाल कर रहे थे। जांच के दौरान, यह पता चला कि वे गोल्डी बरार के नियमित संपर्क में भी थे, जिन्होंने कथित तौर पर 29 मई की हत्या के लिए रसद सहायता, ठिकाने और हथियार प्रदान किए थे। एनआईए की छापेमारी भारत और विदेशों में जेलों के अंदर से संचालित होने वाले गिरोहों पर नकेल कसने के लिए की जा रही है। पुलिस की एफआईआर में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के कई सदस्यों का नाम दिया है।

इसमें खुद लॉरेंस बिश्नोई, गोल्डी बरार, विक्रम बरार, जग्गू भगवानपुरिया, संदीप, सचिन थापन और अनमोल बिश्नोई शामिल हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि ये गैंगस्टर कनाडा, पाकिस्तान और दुबई में देश और विदेशों से अलग-अलग जेलों से काम कर रहे हैं। मूसेवाला की मौत के बाद बांबिहा गिरोह ने कथित तौर पर एक सोशल मीडिया पोस्ट किया था। इसमे कहा गया था कि बिश्नोई और बरार को पंजाबी गायक को नहीं मारना चाहिए था।

एनआईए की रिपोर्ट के मुताबिक, नीरज सेहरावत उर्फ ​​नीरज बवाना और उसका गिरोह मशहूर हस्तियों की हत्या और सोशल मीडिया पर आतंक फैलाने में शामिल है. सूत्रों के अनुसार नीरज बवाना और उसका गिरोह भी इस समय लॉरेंस बिश्नोई के साथ गैंगवार में शामिल है। पंजाबी गायक-राजनेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या के कुछ घंटों बाद नीरज बवाना ने घोषणा की थी कि वे गायक की मौत का बदला लेंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 14 =