मिताली को युवा खिलाड़ियों शेफाली और ऋचा से विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद

दुबई। भारतीय कप्तान मिताली राज को भरोसा है कि शेफाली वर्मा और ऋचा घोष जैसी युवा खिलाड़ी न्यूजीलैंड में अगले महीने होने वाले आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करेंगी। मिताली का मानना है कि टी20 विश्व कप 2020 में शानदार प्रदर्शन करने वाली 18 साल की शेफाली इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में भी प्रभावशाली पारियां खेलेंगी। मिताली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘‘निश्चित तौर पर शेफाली वर्मा उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन पर स्वदेश में लोगों की नजरें रहेंगी।’’

उन्होंने लिखा, ‘‘वह दुनिया की उभरती हुई स्टार खिलाड़ियों में से एक है और मुझे लगता है कि दूसरे छोर पर स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना के मार्गदर्शन और समर्थन में वह पूरे टूर्नामेंट के दौरान भारत के लिए प्रभावी प्रदर्शन करेगी।’’आक्रामक बल्लेबाज शेफाली न्यूजीलैंड दौरे पर उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहीं और अब तक सिर्फ एक अर्धशतक जड़ पाईं हैं। विकेटकीपर के स्थान के लिए तानिया भाटिया के साथ प्रतिस्पर्धा करने वाली ऋचा घोष ने हालांकि मौकों का फायदा उठाया है। इस 18 वर्षीय खिलाड़ी ने दूसरे और चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में खेलते हुए लगातार दो अर्धशतक जड़े।

तानिया भाटिया विकेट के पीछे काफी भरोसेमंद है और ऋचा घोष उसे कड़ी चुनौती दे रही है, इसका मतलब है कि हमारे पास दो विकेटकीपर हैं जिन पर हम भरोसा कर सकते हैं। मिताली ने कहा कि भारतीय टीम काफी ‘भाग्यशाली’ है कि हाल में इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया और मेजबान न्यूजीलैंड जैसी शीर्ष टीम के खिलाफ खेलकर विश्व कप में उतरेगी। न्यूजीलैंड के मौजूदा दौरे पर अब तक सभी मुकाबले- एक टी20 और चार एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय- गंवाने के बावजूद मिताली का मानना है कि तेज गेंदबाजी के अनुकूल हालात का आदी होने का भारत को बड़ा फायदा मिलेगा जिसे स्वदेश में इस तरह के विकेट पर खेलने की आदत नहीं है।

मिताली ने कहा, ‘‘न्यूजीलैंड में श्रृंखला से हमें हालात से सामंजस्य बैठाने का मौका मिला है विशेषकर तेज गेंदबाजी के अनुकूल हालात से जो हमें स्वदेश में नहीं मिलते। इंग्लैंड के खिलाफ हमने तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में से एक मुकाबला जीता और अन्य दो में हमने उन्हें कड़ी टक्कर दी। इसके बाद हमने आस्ट्रेलिया के लगातार 26 एकदिवसीय मैच में जीत के अभियान को रोका। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘ये नतीजे दर्शाते हैं कि एक टीम के रूप में एकजुट होने और स्वयं पर भरोसा करने पर हम क्या कर सकते हैं। इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ हालिया नतीजे साबित करते हैं कि भारत आगामी महिला विश्व कप जीतने में सक्षम है। ’’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 − five =