कोलकाता। कोलकाता महानगर सहित बंगाल में धीरे-धीरे दुर्गापूजा का रंग चढ़ने लगा है। तैयारियों ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया है। इन तैयारियों के बीच कोलकाता मेट्रो ने भी दो साल के बाद अपने यात्रियों को दुर्गापूजा में तीन दिन सारी रात मेट्रो चलाने का फैसला किया है। सप्तमी से नवमी तक कोलकाता मेट्रो में सारी रात दर्शनाभिलाषी यात्रा कर सकेंगे। यह जानकारी कोलकाता मेट्रो के जीएम अरुण अरोड़ा ने एक पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने कहा, इस दौरान सुरक्षा के पुख्त इंतजाम रहेंगे।

इसके लिए कोलकाता पुलिस के साथ लगातार बैठकें की जा रही हैं। उन स्टेशनों की भी पहचान की गई है, जहां पर ज्यादा भीड़ रहती है। इसके लिए हर वक्त मेट्रो कर्मचारी मुस्तैद रहेंगे। अरोड़ा ने कहा, इस बार हमारा लक्ष्य यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा मुहैया कराने का है। कोविड के बाद लोगों में काफी उत्साह है। पिछली बार इस दौरान नौ लाख से अधिक यात्रियों ने मेट्रो का उपयोग किया था।

निश्चित ही इस बार यह संख्या बढ़ेगी। इसके लिए मेट्रो पूरी तरह से तैयार है। जानकारी के मुताबिक पीक ऑवर्स में मेट्रो छह-छह मिनट के अंतराल में मिलेगी। अरोड़ा ने बताया कि पंचमी और षष्ठी के दिन मेट्रो सुबह आठ बजे से रात 12 बजे तक चलेगी। अंतिम मेट्रो दक्षिणेश्वर-कवि सुभाष से रात 11.38 बजे, कवि सुभाष-दक्षिणेश्वर 11.40 बजे, दमदम-कवि सुभाष-दमदम रात 11.50 बजे छूटेगी।

इसी तरह से सप्तमी से नवमी तक दोपहर 1 बजे से अगले दिन सुबह 5 बजे तक मेट्रो चलेगी। अंतिम मेट्रो दक्षिणेश्वर-कवि सुभाष सुबह 3.48 बजे, दमदम-कवि सुभाष-दमदम 4 बजे छूटेगी। दशमी के दिन दोपहर 1 बजे से रात 11 बजे तक मेट्रो चलेगी। इसके बाद एकादशी से त्रयोदशी के दिन मेट्रो सामान्य समय पर चलेगी। उल्लेखनीय है कि इस बार यूनेस्को द्वारा बंगाल की दुर्गापूजा को धरोहर का सम्मान दिए जाने से दुर्गापूजा काफी खास हो गया है। बताया जा रहा है इस दौरान यूनेस्को के सदस्य भी बंगाल में मौजूद रहेंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 10 =