शाहरुख खान की मीर फाउंडेशन ने प्रवासी श्रमिक के बच्चे की मदद को बढ़ाये हाथ

फोटो, साभार : गूगल

मुंबई : हाल ही में, मुज़फ़्फ़रपुर रेलवे स्टेशन से एक प्रवासी श्रमिक के बच्चे का दिल दहला देने वाला वीडियो वायरल हुआ था। इस घटना ने देश को हिलाकर रख दिया था और प्रवासी श्रमिकों की मुसीबत को हाईलाइट करते हुए सभी को आश्चर्यचकित कर दिया था। इस वीडियो के बाद, शाहरुख खान और उनके मीर फाउंडेशन ने बच्चे की मदद और वित्तीय सहायता की पेशकश की है, जिसकी अब दादा-दादी द्वारा देखभाल की जाएगी।

मीर फाउंडेशन ने साझा किया,”#MeerFoundation is thankful to all who helped us reach this child, whose heart wrenching video of trying to wake his mother disturbed all. We are now supporting him and he is under his grandfather’s care.”

वीडियो में बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर रेलवे स्टेशन पर एक बच्चा अपनी मृत माँ को आंशिक रूप से एक चादर से कवर करते हुए नज़र आ रहा है। अरविना खातुन नाम की 35 साल की महिला प्लेटफॉर्म पर मृत अवस्था में नज़र आ रही है, जिसमें उसके सामान से भरे दो बैग भी उसके पास रखे हुए है। महिला और उसके दो छोटे बच्चे 25 मई को अहमदाबाद से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आए थे।

शाहरुख खान इस कठिन समय में देश के जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए हर कदम आगे रहते है। हाल ही में, कोलकाता अमफान चक्रवात से प्रभावित हुआ था और शाहरुख खान अपनी पत्नी गौरी खान के साथ अपनी टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ एक बार फिर लोगों का समर्थन करने के लिए आगे आये है।

शाहरुख खान की समूह कंपनियां कोलकाता नाइट राइडर्स, रेड चिलीज एंटरटेनमेंट, मीर फाउंडेशन और रेड चिलीज वीएफएक्स ने कोविड-19 की लड़ाई में प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी जी और सरकार के प्रयासों का समर्थन करते हुए कई पहल की घोषणा की थी। अभिनेता ने महाराष्ट्र में फ्रंटलाइन मेडिकल स्टाफ के लिए 25,000 पीपीई किट भी प्रदान की है जो इस वक़्त राज्य में कोरोनावायरस महामारी को रोकने की लड़ाई लड़ रहे है।

इस हालिया विकास के साथ, अभिनेता अपनी नेक पहल के जरिये सही मायने में समाज के उन वर्गों के समर्थन में आगे आये हैं, जो लॉकडाउन के दौरान कठिन समय से गुज़र रहे है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen + 4 =