सिलीगुड़ी। पश्चिम बंगाल के उत्तरी क्षेत्र के पर्यटन स्थलों में होटलों के 70 प्रतिशत से अधिक कमरे दुर्गा पूजा अवकाश के मद्देनजर बुक हो चुके हैं। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था कोविड-19 महामारी और उसकी रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन की वजह से बुरी तरह प्रभावित रही थी। इस क्षेत्र में दार्जिलिंग, कलिम्पोंग जैसे कुछ खूबसूरत हिमालयी स्थल और डूआर्स के जंगल आते हैं। फेडरेशन ऑफ बंगाल होटल्स के सहायक सचिव उज्ज्वल घोष ने कहा कि इस साल गर्मियों की छुट्टियों के दौरान यहां अच्छी खासी संख्या में लोग आए थे और होटल व्यवसायियों को त्योहारी सीजन और भी बेहतर रहने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि घाटी और डूआर्स में होटलों के 70 प्रतिशत से अधिक कमरे बुक किए जा चुके हैं, और उम्मीद है कि बाकी भी जल्द ही भर जाएंगे। होम स्टे की भी भारी मांग देखी जा रही है और अगले कुछ दिनों में इनके भी पूरी तरह से बुक होने की उम्मीद है।पर्यटन उद्योग के सूत्रों ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए 10 दिन के दुर्गा पूजा अवकाश की घोषणा की है, जिसकी वजह से मांग बढ़ी है।

वहीं, वे लोग भी यात्रा करने के इच्छुक हैं जो महामारी काल में कहीं घूमने नहीं जा पाए। अधिकारियों ने बताया कि दुर्गा पूजा की छुट्टियों के दौरान एक से 10 अक्टूबर के बीच इस क्षेत्र के सभी सरकारी आवास लगभग भर चुके हैं। वहीं, पर्यटकों की संख्या बढ़ने के मद्देनजर पूर्वी रेलवे ने अक्टूबर से कोलकाता और सिलीगुड़ी में न्यू जलपाईगुड़ी के बीच दो विशेष ट्रेन चलाने की घोषणा की है। इन ट्रेनों के लिए बुकिंग पांच सितंबर से शुरू होगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × one =