उदयपुर, 13 जुलाई, 2022– प्रबंधन की शिक्षा में नए और अनूठे प्रयोग करने की दिशा में कदम उठाते हुए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ उदयपुर (आईआईएम उदयपुर) ने अपने एमबीए प्रोग्राम को एक नए और दिलचस्प लर्निंग कोर्स – ‘मैनेजमेंट गेम्स’ के साथ और बेहतर बनाया है। यह लर्निंग कोर्स वास्तविक समय की स्थितियों के अनुसार प्रबंधन सिद्धांतों लागू करते हुए आवश्यक निर्णय लेने की प्रक्रिया को बढ़ावा देता है।

खास तौर पर तैयार किए गए इस पाठ्यक्रम में विद्यार्थी पहले बोर्ड गेम खेलते हैं, जिसके बाद डीब्रीफिंग सेशन होते हैं, जहां संकाय सदस्य इन खेलों को मैनेजमेंट लर्निंग से जोड़ते हैं। आईआईएम उदयपुर इस वर्ष से इस कोर्स को अपने एमबीए प्रोग्राम के हिस्से के रूप में पूरे 30 घंटे के पाठ्यक्रम के रूप में शामिल करेगा, जहां छात्रों को इस विशिष्ट लर्निंग टेक्नीक के माध्यम से सीखने का अवसर मिलेगा। इस तरह छात्रों के जुड़ाव और रिटेंशन स्तर को सुनिश्चित किया जा सकेगा।

पाठ्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए ‘मैनेजमेंट गेम्स’ पाठ्यक्रम पढ़ाने वाले प्रोफेसर शोभित अग्रवाल ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि मैनेजमेंट शिक्षा को और सरल बनाने से लर्निंग के बारे में हमारे सोचने के तरीके में क्रांतिकारी बदलाव आएगा। बोर्ड गेम आधारित लर्निंग टेक्नीक को पहले से ही कॉर्पाेरेट जगत में स्वीकृति मिल चुकी है और इस टेक्नीक को कॉर्पोरेट्स और छात्रों दोनों की ओर से शानदार रेस्पॉन्स मिला है। हमें यकीन है कि अनुभवों से उपजी यह लर्निंग टेक्नीक ही अब मैनेजमेंट एजुकेशन का भविष्य है और इसीलिए बिजनेस स्कूल अपने पाठ्यक्रमों में और ट्रेनिंग में इसे शामिल करने के लिए तत्पर नजर आ रहे हैं।’’

तेजी से उभरती हुई इस लर्निंग टेक्नीक के बारे में अधिक जानकारी साझा करते हुए आईआईएम उदयपुर के डायरेक्टर प्रो जनत शाह ने कहा, ‘‘यह पाठ्यक्रम छात्रों को उन्नत शिक्षा से लैस करेगा जो उन्हें वास्तविक दुनिया की स्थितियों को मैनेज करने में सक्षम बनाएगा। साथ ही, यह कोर्स उनकी समस्या-समाधान क्षमताओं को बढ़ाने में भी मदद करेगा, जिसकी कि इंडस्ट्री में हमेशा जरूरत होती है। हम इंडस्ट्रियल एप्लीकेशंस के दौरान वास्तविक दुनिया की कठिनाइयों को बेहतर ढंग से समझने के लिए अपनी कक्षाओं में सैद्धांतिक शिक्षा का विस्तार कर रहे हैं। हमारा मानना है कि सिद्धांत सीखने के बजाय प्रबंधन के निर्णय लेने के व्यावहारिक ज्ञान से बेहतर कोई शिक्षण नहीं हो सकता है।’’

इस अनूठी लर्निंग टेक्नीक में छात्र पहले एक बोर्ड गेम खेलते हैं, उसके बाद एक कॉन्सेप्ट सेशन होता है जिसमें किन्हीं खास मैनेजमेंट कॉन्सेप्ट के साथ छात्रों के अनुभवों को जोड़ा जाता है और इस तरह छात्रों को एमबीए के दौरान सीखे गए कॉन्सेप्ट को लागू करने का अवसर मिलता है। यह पाठ्यक्रम आईआईएम उदयपुर में शैक्षणिक वर्ष 2021-22 में 15 घंटे के पाठ्यक्रम के रूप में चलाया गया था और इसे विद्यार्थियों की ओर से शानदार रेस्पॉन्स मिला था। इसलिए इस वर्ष से इसे पूरे 30 घंटे के पाठ्यक्रम के रूप में लागू किया जा रहा है।

इस पाठ्यक्रम में बोर्ड गेम के दौरान निम्नलिखित प्रमुख अवधारणाएँ शामिल की गई हैं –
एकीकृत बातचीत
महत्वपूर्ण विचार-विमर्श
आपसी सहयोग
संसाधनों का कुशलतापूर्वक उपयोग
जैसे-जैसे पाठ्यक्रम पूरे 30-घंटे की अवधि तक आगे बढ़ता है, इसमें और अधिक प्रबंधन अवधारणाएँ जोड़ी जाएँगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =