पता नहीं क्यों हावड़ा नगर निगम विभाजन विधेयक को मंजूरी नहीं दे रहे राज्यपाल : स्पीकर

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा के अध्यक्ष विमान बनर्जी ने सोमवार को कहा कि वह नहीं जानते कि क्यों राज्यपाल जगदीप धनखड़ हावड़ा नगर निगम के विभाजन संबंधी विधेयक को मंजूरी नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हावड़ा नगर निगम और बाली नगर पालिका का चुनाव राज्य के अन्य नगर निकायों के चुनावों के साथ हो सकते हैं जिनकी अनुमति राज्यपाल ने दी है। विधानसभा अध्यक्ष ने सदन में कहा ‘‘वह समझ नहीं पा रहे हैं कि आखिर राज्यपाल इस विधेयक को क्यों मंजूरी नहीं दे रहे हैं।’’

विधेयक को धनखड़ की मंजूरी मिलने में हो रही देरी के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि संवैधानिक प्रतिबद्धता है और मैं वह करूंगी जो किया जाना है और राज्यपाल वह करेंगे जो उन्हें करना चाहिए। बनर्जी राज्य मानवाधिकार आयोग के सदस्यों के चयन के लिए विधानसभा परिसर में आयोजित बैठक से इतर पत्रकारों से बातचीत कर रही थीं। उल्लेखनीय है कि नगर निकाय को विभाजित करने के विधेयक को लेकर राज्यपाल धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार के बीच टकराव चल रहा है।

इस विधेयक में हावड़ा नगर निगम से अलग कर बाली नगरपालिका गठित करने का प्रस्ताव है। राज्यपाल ने रविवार को कहा था कि उन्होंने 24 नवंबर को ही कुछ सवाल के साथ विधेयक को राज्य सरकार को वापस भेज दिया था लेकिन अबतक जरूरी स्पष्टीकरण नहीं आया है। राज्य निर्वाचन आयोग और पश्चिम बंगाल सरकार ने कलकत्ता उच्च न्यायालय को सूचित किया कि उनकी योजना 22 जनवरी 2022 को पांच नगर निगमों को चुनाव कराने की है जबकि बाकी बचे नगर निकायों के चुनाव 27 फरवरी को कराए जाने का प्रस्ताव है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 3 =