टिकट बंटवारे को लेकर ममता बनर्जी और अभिषेक में मतभेद!

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में स्थानीय निकाय चुनाव से पहले ही सूबे की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में फूट की खबर सामने आ रही है। स्थानीय निकाय चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर टीएमसी की सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी में तनातनी बढ़ गई है। पार्टी के इन दोनों वरिष्ठ नेताओं में आपसी मतभेद पैदा होने से अंतर्कलह भी बढ़ती जा रही है। आलम यह कि टिकट बंटवारे और प्रत्याशियों की सूची सोशल मीडिया के जरिए जारी किए जाने के विरोध में टीएमसी वर्कर्स यूनियन ने बस सेवाओं को निलंबित करने के साथ ही जूट मिलों में काम ठप कर दिया है।

इतना ही नहीं, पार्टी के खिलाफ उसके कार्यकर्ता जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन भी कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को लाठियां भी भांजनी पड़ रही है। टीएमसी नेताओं के हवाले से मीडिया में आ रही खबर के अनुसार, पश्चिम बंगाल में 108 नगर निकायों के चुनाव होने हैं। इन चुनावों में टिकट बंटवारे को लेकर टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी में मतभेद पैदा हो गए हैं। टीएमसी की ओर से नगर निकाय चुनाव के लिए करीब 2200 प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है, लेकिन इनमें से करीब 150 प्रत्याशियों के टिकट पर पेंच फंस गया है।

नगर निकाय के 150 सीटों को लेकर उभरा मतभेद
हालांकि, टीएमसी में ममता बनर्जी के बाद अभिषेक को दो नंबर की पोजिशन पर रहने वाला नेता माना जाता है। पश्चिम बंगाल के अलावा गोवा और त्रिपुरा में पार्टी के पैर पसारने से लेकर चुनाव लड़ने तक का फैसला लेने में अभिषेक बनर्जी की भूमिका अहम मानी जाती है लेकिन, पश्चिम बंगाल के नगर निकाय चुनाव में 150 सीटों के प्रत्याशियों को लेकर बुआ-भतीजे के मतभेद उभरकर सामने आ गए हैं।

टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम नहीं छापने की शर्त पर मीडिया को बताया कि पार्टी की ओर से 2200 लोगों को उतारा जाएगा. ममता बनर्जी को 150 नामों पर आपत्ति है, जिन्हें फेसबुक पेज और ट्विटर पर अपलोड की गई सूची में शामिल किया गया है. यही नहीं, यह सूची उनकी जानकारी के बिना ही अपलोड की गई थी। कोलकाता के मेयर और ममता बनर्जी के करीबी फिरहाद हाकिम ने कहा कि दूसरी सूची उन लोगों की ओर से अपलोड की गई है, जिन्हें पार्टी के डिजिटल मीडिया अकाउंट्स के पासवर्ड दिए गए हैं, जबकि वे इसके लिए अधिकृत नहीं हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 4 =