प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

बीजिंग : पिछले कुछ दिनों से लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। कुछ समय पहले तो दोनों सेनाओं के बीच झड़प भी हुई थी। दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने आ चुकी हैं। चीन ने तो भारतीय सीमा में घुसने की कोशिशें भी शुरू कर दी थीं, लेकिन सीमा पर पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किए जाने से स्थिति पर काबू किया जा सका।

न्यूज एजेंसी एएनआई को मिली जानकारी के अनुसार जब चीनी सेना ने एलएसी पर गालवान नाला एरिया में मई के पहले ही सप्ताह में सेना तैनात करना शुरू किया, तब उनकी मंशा थी कि वह भारतीय सीमा में ज्यादा अंदर तक घुस सकें। शुरुआत में तो इसे टालने की कोशिश की गई, लेकिन बाद में भारतीय सेना ने सुरक्षा बल की तैनाती कर दी और चीन के प्लान को फेल कर दिया।

सूत्रों के अनुसार सेना तैनात करने की वजह से भारत को चीनी सेना को भारतीय सीमा में ज्यादा अंदर तक घुसने से रोकने में मदद मिली। गालवान नाला एरिया में चीनी सैनिक 114 ब्रिगेड के काफी पास में मौजूद हैं। इससे पहले जब भारत ने चीन द्वारा भारतीय पोस्ट के दूसरी तरफ रोड बनाए जाने पर आपत्ति जताई थी, तो चीन ने तर्क दिया था कि भारत भी तो पेट्रोलिंग प्वाइंट 14 के पास गालवान नाला में ब्रिज बना रहा है।

अब भारत ने उस इलाके में सेना की करीब दो कंपनियां तैनात कर दी हैं। सूत्रों का कहना है कि पिछले 2-3 सालों में भारत ने डीबीओ इलाके में जो सड़क बनाई है, उसे देखकर चीन घबराया हुआ है और अब उसकी छटपटाहट साफ दिख रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + twelve =