लंदन। भारतीय खिलाड़ी इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ रहे हैं, क्योंकि चेतेश्वर पुजारा ने ससेक्स के लिए सीजन का अपना तीसरा दोहरा शतक लगाया, जबकि तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने केंट के लिए डेब्यू पर पांच विकेट
लिए। पुजारा ने अपना नाम ससेक्स के इतिहास की किताबों में दर्ज कर लिया, क्योंकि उन्होंने शानदार 231 रन बनाए। इससे बुधवार को लॉर्डस में मिडलसेक्स के खिलाफ अपनी पहली पारी में 523 का विशाल स्कोर बनाने में मदद मिली।
तेज गेंदबाज सैनी ने बुधवार को बमिर्ंघम के एजबेस्टन में केंट के लिए वारविकशायर के खिलाफ 5/72 रन से शानदार शुरुआत की। मिडलसेक्स के लिए खेलते हुए, साथी भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव ससेक्स की पहली पारी में कोई विकेट नहीं लिया।

पुजारा, भारत के टेस्ट खिलाड़ी लॉर्डस में मिडलसेक्स के खिलाफ दोहरा शतक बनाने वाले पहले ससेक्स बल्लेबाज बने।
ईएसपीएन क्रिकइन्फो की एक रिपोर्ट के अनुसार, 125 साल पहले एमसीसी के खिलाफ खेलते हुए देश के सर रंजीतसिंहजी विभाजी द्वितीय ने लॉडर्स में 200 का स्कोर बनाने वाले अंतिम ससेक्स बल्लेबाज थे। इससे पहले उन्होंने डर्बी के खिलाफ पहले मैच में नाबाद 201 और डरहम के खिलाफ 203 रन बनाए थे। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में यह उनका 16वां दोहरा शतक था।

पुजारा ने अपनी 231 रनों की पारी के दौरान 403 गेंदों का सामना किया, जिसमें 21 चौके और 3 छक्के शामिल थे। कुल मिलाकर उनका विकेट पर रुकना 533 मिनट तक रहा। सैनी ने शानदार गेंदबाजी की। उन्होंने 18 ओवरों में 5/72 विकेट हासिल किए। उन्होंने क्रिस बेंजामिन, डैन मूसली, माइकल बर्गेस, हेनरी ब्रूक्स और क्रेग माइल्स का पवेलियन भेजा। उनके पांच विकेट ने केंट को 85.1 ओवर में वारविकशायर को 225 रनों पर ऑलआउट करने में मदद की।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × three =