मालदा। प्रधानमंत्री आवास योजना के वास्तविक लाभार्थियों को आवास पाने में असुविधाओं की निगरानी के लिए केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल के तीन सदस्य गांव पहुंचे। शुक्रवार की सुबह केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल कालियाचक 3 ब्लॉक के चरिअणंतपुर, कमरपुर गांव में कई शिकायतकर्ताओं के घर गए। आवास योजना के आवेदकों से बात की। केंद्रीय अधिकारी आम ग्रामीणों से भी बात करते हुए लाभार्थियों ने कितने समय पहले आवेदन किया था और उन्हें अभी तक योजना का लाभ क्यों नहीं मिला इसकी जानकारी हासिल की। केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल के साथ जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद थे।
गौरतलब है कि तीन सदस्यों का एक केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल गुरुवार रात प्रधानमंत्री आवास योजना परियोजना की निगरानी के लिए मालदा आया था। केंद्रीय ग्रामीण विकास विभाग के उप सचिव शक्ति कांति सिंह, सह आयुक्त एमएस चाहत सिंह और सहायक अनुभाग अधिकारी गौरव आहूजा उपस्थित थे।

कहने की आवश्यकता नहीं कि काफी समय से मालदा जिले के विभिन्न प्रखंडों में आवास योजना में भ्रष्टाचार और अनियमितता के आरोप लग रहे थे। ग्रामीणों ने कई प्रखंडों में सड़क जाम कर विरोध जताया। उसी को देखते हुए केंद्र के ग्रामीण विकास विभाग का प्रतिनिधिमंडल मालदा आया था। कमरपुर क्षेत्र के आवेदक हिमांशु राय ने कहा कि मेरे घर पर केंद्र सरकार की टीम आई थी। मुझे आवास योजना के लिए आवेदन करने के बाद भी इसका लाभ नहीं मिला। मैंने इसकी जानकारी भी अधिकारियों को दी। उन्होंने हमारे घर को देखा व जांच किया।

अभी तक पंचायत व प्रखंड प्रशासन को अवगत कराने के बावजूद कोई काम नहीं हो रहा था। हो सकता है कि केंद्र के अधिकारियों को अपनी समस्या बताने के बाद मुझे योजना का लाभ मिल सके। इस बीच मालदा जिले के कालियाचक 3 प्रखंड ही नहीं। केंद्रीय प्रतिनिधिमंडल के नेता कई और प्रखंडों में जा सकते हैं। वहीं अधिकारी घर-घर जाकर याचिकाकर्ताओं से बात कर रहे हैं। किसे घर मिला और किसे नहीं मिला, इस मसले पर केंद्र के प्रतिनिधिमंडल निगरानी रख रहे हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 20 =