भारत उत्थान न्यास की वर्चुअल कार्यशाला में मंथन

खड़गपुर । आज भारत उत्थान न्यास द्वारा आयोजित अध्यक्ष एवं सचिवों की वर्चुअल कार्यशाला की शुरुआत कला एवं संस्कृति विभाग की राष्ट्रीय अध्यक्ष, डॉ. रोचना विश्नोई द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से हुई। राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य डॉ. शशी अग्रवाल ने न्यास का परिचय दिया। उपस्थित पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए राष्ट्रीय सचिव कृष्ण कुमार जिंदल ने कहा कि आप सभी पदाधिकारियों के अनवरत प्रयासों से न्यास शिक्षा, संस्कार और आध्यात्म के क्षेत्र अपनी महत्वपूर्ण भूमिका से भारत के साथ अन्य देशों में भी अपनी विशिष्ट पहचान बना रहा है।

मुख्य अतिथि न्यास के राष्ट्रीय संरक्षक डॉ. उमेश पालीवाल ने सभी पदाधिकारियों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि न्यास का कार्य ईश्वर का कार्य है, इसलिए सभी वरिष्ठ पदाधिकारी इसे निस्वार्थ भाव से कार्य करें और आपसी सहयोग और समन्वय स्थापित करते हुए समाज को जोड़ते हुए निरंतर आगे बढ़ते रहें। न्यास के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुजीत कुंतल की अध्यक्षता में हुई इस कार्यशाला में अधिवक्ता सुमित्रा चौधरी, अध्यक्ष- दिल्ली प्रदेश एवं राष्ट्रीय विधिक सलाहकार डॉ. स्नेहलता शर्मा, क्षेत्रीय अध्यक्ष- कर्नाटक/तेलंगाना, डॉ. के. स्वर्णा, अध्यक्ष- बैंगलोर, गीता शर्मा, अध्यक्ष- मुम्बई, माला श्रीवास्तव, अध्यक्ष- ग्वालियर, डॉ. सोना अग्रवाल, सचिव- राजस्थान प्रदेश, डॉ. नीरा सिंह, अध्यक्ष- मेरठ प्रांत।

प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, सचिव- झांसी/बुंदेलखंड, डॉ. अनीता निगम, सचिव- कानपुर महानगर, डॉ. आनंदेश्वरी अवस्थी, अध्यक्ष- लखनऊ महानगर, डॉ. दीपा अग्रवाल, अध्यक्ष- ब्रज प्रांत, वीरेन्द्र ठाकुर, सचिव, हिमाचल प्रदेश, डॉ. गोविंद शंकर निगम, राष्ट्रीय अध्यक्ष- बौद्धिक विभाग, डॉ. नवीन मोहनी निगम, राष्ट्रीय अध्यक्ष- शिक्षा समिति, डॉ. निरूपमा त्रिपाठी, राष्ट्रीय अध्यक्ष- चरित्र निर्माण एवं व्यक्तित्व विकास, डॉ. रोचना विश्नोई, राष्ट्रीय अध्यक्ष- कला एवं संस्कृति विभाग, पूजा श्रीवास्तव, संस्थापक अध्यक्ष- प्रकाशन समिति, डॉ. चित्रा सिंह तोमर, राष्ट्रीय अध्यक्ष- महिला समिति ने उपस्थित होकर कार्यशाला को सफल बनाया। कार्यशाला का संचालन राष्ट्रीय मंत्री, कल्पना पांडेय ने और धन्यवाद ज्ञापन, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, अशोक कुमार गुप्ता ने दिया। कुल उपस्थिति लगभग 27 रही।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 12 =