पूर्वी सिक्किम में हिमस्खलन, बचाव कार्य में जुटी भारतीय सेना, राज्य आपदा प्रबंधन टीम और पुलिस

अबतक 7 लोगों की जा चुकी है जान, कई लापता, 80 वाहनों में 350 पर्यटक फंसे

सिक्किम। 04 अप्रैल 23 को लगभग 11 बजे, एमएस 15 के पास गंगटोक-नाथू-ला जेएनएम रोड पर भारी हिमस्खलन हुआ। नाथू-ला के रास्ते में 20-30 पर्यटकों के साथ लगभग 5-6 वाहनों के बर्फ के नीचे दबने की आशंका है। त्रिशक्ति कोर, भारतीय सेना और बीआरओ परियोजना स्वास्तिक की टीम तुरंत कार्रवाई में जुट गई और एक चौतरफा बचाव अभियान शुरू किया।

शाम 4 बजे तक 23 पर्यटकों को बचाया गया, जिनमें 6 लोगों को गहरी घाटी से निकाला गया। उन्हें भारतीय सेना की नजदीकी चिकित्सालयों में स्थानांतरित कर दिया गया। दुर्भाग्य से सात लोगों ने दम तोड़ दिया है। सेना, राज्य आपदा प्रबंधन दल और पुलिस द्वारा शेष व्यक्तियों की तलाश और बचाव अभियान जारी है।

इसके अलावा सड़क से बर्फ हटाने के बाद फंसे 350 पर्यटकों और 80 वाहनों को बचाया गया। यह प्रारंभिक सूचना है। समय के साथ आंकड़े बदल सकते हैं क्योंकि बचाव अभियान जारी रहता है और समय के साथ हादसे की अधिक स्पष्टता सामने आती है।