बरेली । लेखिका संघ की काव्य गोष्ठी और सम्मान समारोह का आयोजन नैनीताल रोड स्थित तूलिका गार्डन में हुआ। जहां शहर के जाने-माने कवियों ने काव्य के सुन्दर रंग बिखेरे। नगर की वरिष्ठ साहित्यकार राजश्री कालेज की चैयरपर्सन डॉ. मोनिका अग्रवाल को उनके साहित्य में उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित किया गया। सम्मान सुरेन्द्र बीनू सिन्हा, रमेश गौतम, मुख्य अतिथि डॉ. सुधा त्यागी, रोहित राकेश, विनय सागर, निर्मला सिंह और निरुपमा अग्रवाल ने दिया। काव्य गोष्ठी में 20 से ज्यादा कवियों ने अपनी सुन्दर अभिव्यक्ति के प्रस्तुतिकरण से श्रोताओं का मन मोह लिया।

गोष्ठी का प्रारंभ कवि कमल सक्सेना की मोहक सरस्वती वंदना से हुआ। काव्य गोष्ठी और सम्मान समारोह की मुख्य अतिथि डॉ. सुधा त्यागी, अध्यक्षता रमेश गौतम, विशिष्ट आतिथ्य विनय सागर ने ग्रहण किया। सुरेन्द्र बीनू सिन्हा, रोहित राकेश का विशेष सानिध्य रहा। अपनी पंक्तियां पढ़ते हुए निर्मला सिंह ने कहा “शहर नहीं, सड़क नहीं” तुम हमारा गांव थी, पीपल, बरगद,पाकड़ तुम हमारी छांव थी की सुन्दर प्रस्तुति ने श्रोताओं की खूब तालियां बटोरीं। रमेश गौतम की नारी को केंद्र में रखकर प्रस्तुति “तुम अंधेरों से घिरी हो और उजाले बांटती हो” को खूब सराहा गया।

शायर विनय सागर ने “खमोशियों का फ़क़त आसमान छोड़ गए, किसी की याद के पंछी मचान छोड़ गए” और रोहित राकेश की “दिल की दरिया में बस उछाल ही उछाल रहा, हाथ में जब तक कलम रहा कमाल रहा” को भी पसंद किया गया। इनके अतिरिक्त मीरा प्रियदर्शनी, मोना प्रधान, सिया सचदेव, ज्योत्स्ना कपिल, छाया अग्रवाल, विनीता सिंह, अनुराग वाजपेई, अविनाश अग्रवाल, मीना अग्रवाल, दीपा गुप्ता, डॉ. मोनिका अग्रवाल ने भी काव्य के सुंदर रंग बिखेरे। वरिष्ठ साहित्यकार निरुपमा अग्रवाल ने गोष्ठी का सफल संचालन किया। मोनिका अग्रवाल ने सभी का आभार जताया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 6 =