कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के दो विधायकों को पश्चिम बंगाल विधानसभा से निष्कासित कर दिया गया है। इन दोनों विधायकों को पूरे बजट सत्र के लिए निष्कासित कर दिया गया है। भाजपा विधायक सुदीप मुखर्जी और मिहिर गोस्वामी को सदन की कार्रवाई में अवरोध उत्पन्न करने के चलते सस्पेंड कियागया है। दरअसल जब प्रदेश के राज्यपाल जगदीप धनकर बजट सत्र की शुरुआत में पहले दिन 7 मार्च को भाषण दे रहे थे तो दोनों ने सदन में काफी विरोध किया था, जिसके बाद इन्हें सदन की कार्रवाई से निष्कासित कर दिया गया।

बंगाल विधानसभा में संसदीय कार्य मंत्री पार्था चटर्जी ने दोनों विधायकों के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया और दोनों ही भाजपा विधायकों को मौजूदा बजट सत्र से निष्कासित करने की मांग की। जिसके बाद इस प्रस्ताव पर स्पीकर बिमन बनर्जी ने वोट कराया। जिसके बाद सुदीप मुखर्जी और मिहिर गोस्वामी को बजट सत्र से निष्कासित कर दिया गया। दोनों ही विधायकों पर सदन की कार्रवाई के दौरान नारेबाजी करने और तख्तियां दिखाने का आरोप है, जिसके चलते सदन की कार्रवाई बाधित हुई।

सदन में भाजपा विधायकों के खिलाफ प्रस्ताव पेश करते हुए पार्था चटर्जी ने कहा कि भाजपा विधायक सदन में तख्तियां दिखा रहे थे और नारेबाजी कर रहे थे, जिसकी वजह स 7 मार्च को राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान कार्रवाई बाधित हुई। सदन के भीतर पार्था चटर्जी के प्रस्ताव को ध्वनि मत से स्वीकार कर लिया गया और दोनों विधायकों को सस्पेंड कर दिया गया। बता दें कि 7 मार्च को राज्यपाल ने अपने अभिभाषण के बाद बजट की पहली लाइन और आखिरी लाइन पढ़ा। भारतीय जनता पार्टी के विधायकों की ओर से इस दौरान भारी शोर-शराबा किया गया, जिसके चलते राज्यपाल के अभिभाषण में अवरोध पैदा हुआ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × four =