कोलकाता की बसों में ट्रांसजेंडरों के लिए सीट रिजर्व

फोटो साभार : गूगल

कोलकाता :  बंगाल में ट्रांसजेंडरों के लिए सराहनीय पहल की गई है। कोलकाता के ट्रांसजेंडर यात्रियों को अब शहर की कुछ सार्वजनिक बसों में सीटें रिजर्व रहेंगी। ट्रांसजेंडर के लिए कम से कम एक सीट बस में आरक्षित करने की शुरुआत रविवार को आधिकारिक रूप से शुरू हुई।

इस कदम के पीछे व्यक्ति 23 वर्षीय सोबन मुखर्जी हैं, जिन्हें दो साल पहले सार्वजनिक शौचालय में सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग बॉक्स स्थापित करने के लिए “कोलकाता का पैडमैन” उपनाम दिया गया था। उन्होंने शहर में ट्रांसजेंडर शौचालय स्थापित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सार्वजनिक परिवहन में ट्रांसजेंडर लोगों के लिए सीटों की मांग करना उनकी नई योजना है। इस प्रयास में शहर में 42,000-निजी स्वामित्व वाली सार्वजनिक बसों वाले संगठन, ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट्स (JCBS) ने मुखर्जी का समर्थन किया है।

दक्षिण कोलकाता में बांसड्रोनी और केंद्रीय व्यापार जिले के बाबूघाट के बीच शुक्रवार को शुरू हुई 205 और 205A मार्गों पर 36 बसों में सीटें आरक्षित करने की प्रक्रिया की शुरुआत की गई। सीटों को “त्रिधारा” कहा जा रहा है। सीटों पर स्टिकर और संकेत चिपकाए गए हैं, जो दर्शाता है कि वे ट्रांसजेंडर लोगों के लिए हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − 5 =