Mamata-Banerjee

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  कहा कि राज्य में शिक्षा का स्तर काफी बेहतर हुआ है और राज्य बोर्ड के छात्रों को अब सीबीएसई और आईसीएसई के समान अंक मिल रहे हैं। बनर्जी ने कहा, ‘पहले, पश्चिम बंगाल बोर्ड के छात्रों और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) तथा काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सार्टिफिकेट एग्जामिनेशन (आईसीएसई) बोर्ड के छात्रों द्वारा प्राप्त अंकों के बीच असमानता थी।

उनमें से कई (राज्य बोर्ड के छात्रों) को उच्च शिक्षा के लिए पर्याप्त अवसर नहीं मिले। अब स्थिति बदल गई है। उन्हें सीबीएसई और आईसीएसई की तरह ही 80 से 90 प्रतिशत अंक मिलते हैं।’ राज्य द्वारा शुरू कन्याश्री, शिक्षाश्री जैसी शिक्षा योजनाओं का उल्लेख करते हुए बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए कई पहल की हैं कि छात्र आर्थिक तंगी के कारण पढ़ाई न छोड़ें।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जब उच्च शिक्षा की बात आती है, तो यादवपुर और कलकत्ता विश्वविद्यालय पहले स्थान पर हैं। बंगाल सर्वश्रेष्ठ प्राथमिक शिक्षा भी प्रदान करता है। हमें बंगाल में पैदा हुई प्रतिभाओं पर गर्व है।’ मुख्यमंत्री बनर्जी ने इस अवसर पर अपनी सरकार की उच्च शिक्षा के लिए योजना के तहत 8,000 लाभार्थियों के बीच छात्र क्रेडिट कार्ड वितरित किए।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 15 =