जंगल महल के स्टेशनों पर होगा संथाली भाषा का प्रयोग

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : झाड़ग्राम के सांसद कुंवर हेम्बर्म ने कहा कि जंगल महल के रेलवे स्टेशनों पर संथाली भाषा को स्थान मिलेगा । इस बाबत उन्होंने केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से अनुरोध किया था । सोमवार को खड़गपुर – टाटानगर संभाग के सरडिहा स्टेशन पर रेल परियोजनाओं का उद्घाटन करते हुए उन्होंने यह बात कही। इस अवसर पर आयोजित समारोह में खड़गपुर के अपर मंडल रेल प्रबंधक विनोद कुमार चौधरी तथा वरिष्ठ मंडलीय वाणिज्यिक प्रबंधक आदित्य चौधरी समेत बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। समारोह के माध्यम से सरडिहा स्टेशन पर निर्मित आरयूबी, विकसित प्लेटफॉर्म तथा फुट ओवर ब्रिज का लोकार्पण हुआ। अपने संबोधन में सांसद कुंवर हेम्बर्म ने कहा कि रेलवे देश की सबसे सस्ती परिवहन व्यवस्था है।

दक्षिण पूर्व रेलवे खड़गपुर मंडल का काफी हिस्सा जंगल महल में आता है, जहां 70 % आबादी आदिवासियों की है। उन्होंने केंद्रीय रेल मंत्री से अनुरोध किया था कि इस क्षेत्र के स्टेशनों पर हिंदी, अंग्रेज़ी व बांग्ला के साथ ही संथाली भाषा को भी स्थान मिलना चाहिए। खड़गपुर- आदरा संभाग के मेदिनीपुर समेत कुछ स्टेशनों पर ओलचिकी लिपि में नाम लिखने की प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है। उम्मीद है कोरोना परिस्थिति के बाद रेल सेवा स्वाभाविक होने के बाद स्टेशनों पर संथाली भाषा में उद्घोषणा भी शुरू हो जाएगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight + nineteen =