कोलकाता। अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में मचा बवाल रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सेना (Indian Army) में भर्ती को लेकर सरकार की इन नई नीति के खिलाफ विरोध की आग कई राज्यों में फैल चुकी है।अग्निपथ योजना के खिलाफ देशभर में हो रहे विरोध प्रदर्शन से पश्चिम बंगाल भी अछूता नहीं है। बंगाल में भी विरोध प्रदर्शन के कारण खासा असर देखने को मिल रहा है। पश्चिम बंगाल से पूर्वोत्तर, दक्षिण भारत और उत्तर भारत की ओर जाने वाली लगभग हर ट्रेन पर इसका प्रभाव पड़ा है। बंगाल की पूर्वा एक्सप्रेस से लेकर शाम तक की सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। विरोध प्रदर्शन के कारण रद्द की गई ट्रेनें फिर कब से चलेगी इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।

विरोध प्रदर्शन का असर पश्चिम बंगाल की लोकल ट्रेनों पर दिखने लगा है, जिसके कारण कुम्भ एक्सप्रेस, बंदेल, वर्द्धमान लोकल समेत हावड़ा स्टेशन से जाने वाली सभी लोकल ट्रेनों जो दक्षिण पूर्व या उत्तर पूर्व की ओर जाती हैं को रद्द कर दिया गया है। जगह-जगह से तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं सामने आ रही है। वहीं सरकार प्रदर्शनकारियों को समझाने और इस योजना के फायदे गिनाने में जुटी हुई है। अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के खिलाफ देशभर में हो रहे हिंसक प्रदर्शन में सबसे अधिक नुकसान रेलवे को पहुंचा है। उपद्रवियों ने कई ट्रेनों (Trains) को आग के हवाले कर दिया है, तो कहीं रेलवे पटरियों को नुकसान पहुंचाया है।

सरकार भले ही प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास कर रही है लेकिन युवाओं ने जिस प्रकार से अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के खिलाफ उग्र प्रदर्शन जारी रखा है, उससे यात्रियों में डर का माहौल है। इस उपद्रव को देखते हुए कई यात्रियों ने अपने टिकट कैंसिल कर दिए है। यात्रियों को डर सताने लगा है कि कहीं रास्ते में फंस गए तो क्या होगा? कई इलाकों में लगातार विरोध प्रदर्शन के कारण घंटों तक ट्रेनों को जबरन रोका जा रहा है. जिसके चलते कई रेलवे ने कई ट्रेनों को कैंसिल कर दिया या फिर उनके रूट में बदलाव किया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 4 =