तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : तृणमूल कांग्रेस नेत्री और केशपुर की विधायक शिवली साहा ने कहा कि राजनैतिक हिंसा केशपुर के संदर्भ में अब अतीत की बात हो चुकी है। केशपुर अब शांत और खुशहाल है। हालांकि नई जर्सी से लैस हर्मदों को यह नहीं सुहा रही। विरोधियों की ओर से गड़बड़ी और दुष्प्रचार की कोशिश लगातार की जाती रही है।

स्थानीय दलीय कार्यालय में प्रखंड अध्यक्ष उत्तम त्रिपाठी और वरिष्ठ नेता चित्त घोड़ाई की उपस्थिति में बुधवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में शिवली साहा ने कहा कि पिछले कुछ सालों में केशपुर का काफी विकास हुआ है। सड़क, पानी और बिजली आपूर्ति की हालत सुधरी है। अपने कार्यकाल में उन्होंने पांच एंबुलेंस की व्यवस्था की है। राशनिंग में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई हुई है।

केशपुर में कोरोना पॉजिटिव के 32 मामले हुए, लेकिन इलाज के बाद सभी जल्द स्वस्थ होने वाले हैं। केंद्र सरकार के तानाशाही तरीके से बिना सोचे-समझे लॉक डाउन करने के चलते देश में कोरोना की परिस्थिति भयावह हुई। प्रवासी श्रमिकों को बगैर उचित जांच के रवाना कर देना भी केंद्र सरकार की भारी भूल थी। स्पेशल ट्रेन में  यात्रा के दौरान 80 श्रमिकों की मौत बेहद दुखदायी है।

अम्फान तूफान से केशपुर समेत समूचे प्रदेश में  भारी तबाही हुई है। हर मोर्चे पर चुनौतियों के चलते देशवासी जब अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसे नाजुक वक्त में भाजपा की वर्चुअल सभाएं निंदनीय है। इसके नेता हर समय फेक न्यूज के  जरिए प्रदेश,  टी एम सी और हमारी नेत्री मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ दुष्प्रचार में लगे रहते हैं।

पिछले साल हुए लोकसभा चुनाव के दौरान घाटाल संसदीय छेतर के ज्यादातर विधानसभा इलाकों में भाजपा की बढ़त पर शिवली साहा ने कहा कि केश पुर ने हमें 96 हजार वोटों की बढ़त दिलाई। कह सकते हैं एक वर्ग भाजपा के झूठे आश्वासनों के झांसे में आ गया,  लेकिन कुछ महीने बाद हुए उप चुनाव में तीनों सीटों पर हमारी सफलता जनता का हमारे प्रति विश्वास का  सबूत है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × two =