बांधाघाट स्थित हनुमान पुस्तकालय में मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन

हावड़ा। बांधाघाट स्थित हनुमान पुस्तकालय के सभागार में गजलकार राम पुकार सिंह के अध्यक्षता में एक भव्य अंतरंग काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका बेजोड़ संचालन वरिष्ठ कवि चंद्रिका प्रसाद पाण्डेय अनुरागी किये। गोष्ठी की शुरुआत उर्मिला साव कामना की मधुर सरस्वती वंंदना से हुआ। तत्पश्चात डाॅ. मनोज कुमार मिश्र ने सभी कलमकारों का स्वागत एवं अभिनंदन किए।

इस मौके पर सभी रचनाकारों ने सभी रसों की राष्ट्रीय भक्ति से ओत-प्रोत स्वरचित कविताओं की धारा प्रवाहित कर खूब वाह वाही लूटी जिसमें कालिका प्रसाद उपाध्याय, ओम प्रकाश चौबे, श्वेता गुप्ता विजय शर्मा विद्रोही, विष्णु प्रिया त्रिवेदी, चन्द्रभान गुप्ता, उषा जैन, अजमत अंसारी, रमाकांत सिन्हा, राम नारायन झा देहाती, प्रदीप कुमार धानुक अलबेला, रवींद्र कुमार श्रीवास्तव, नंदू बिहारी झा और चंद्रिका प्रसाद पाण्डेय अनुरागी प्रमुख थे।

राम पुकार सिंंह ने अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में सभी रचनाकारों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए ऐसे अंतरंंग काव्य गोष्ठी आयोजन करने पर बल दिया। उन्होंंने अपनी स्वरचित गजल “बिगुुल जहाँ में बजा के देखो/मशाल दिल में जला के देखो” सुनाकर सभी का दिल जीत लिया। इस काव्य गोष्ठी को सफल बनाने में आयुष्मान, गौरव, अनुष्का, मधु और धर्मेन्द्र गिरी ने अथक प्रयास किए। अंत में धन्यवाद ज्ञापन रवींद्र कुमार श्रीवास्तव ने दिया।