कोलकाता। झारखंड कांग्रेस विधायक कैश कांड की जांच का दायरा बढ़ रहा है। कैश कांड के सबूत जुटाने के लिए पश्चिम बंगाल पुलिस की सीआईडी टीम असम के गुवाहाटी के अशोक कुमार धानुका को सीआरपीसी की धारा 41ए के तहत नोटिस जारी किया है। साथ ही सोमवार को सुबह 10 बजे भवानी भवन में पेश होने को कहा है. सूत्रों का दावा है कि गुवाहाटी में सीआईडी की टीम इस नोटिस को तामील कराने उनके घर गई थी लेकिन उनके घर पर पहले से ही असम पुलिस का पहरा था। पश्चिम बंगाल पुलिस की सीआईडी की टीम बीते दिनों झारखंड के तीन कांग्रेस विधायकों की गिरफ्तारी के संबंध में सीसीटीवी फुटेज और अन्य सबूत जुटाने के लिए असम गई थी।

बंगाल सीआईडी टीम ने गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई इंटरनेशनल (एलजीबीआई) हवाई अड्डे और एक होटल से सीसीटीवी फुटेज एकत्र किए थे। सीआईडी कोलकाता की जांच में यह बात सामने आयी है कि 30 जुलाई को विधायक इरफान अंसारी अपने सहायक कुमार प्रतीक के साथ कोलकाता के लाल बाजार स्थित व्यवसायी के कार्यालय गए थे। यहीं पर महेंद्र अग्रवाल ने उन्हें 49 लाख रुपये दिए थे।

इसके पहले सभी सदर स्ट्रीट के एक होटल में 3.06 बजे पहुंचे थे, इसके बाद सभी वहां से 3.14 बजे निकल गए थे। होटल के कर्मी ने अपने बयान में बताया था कि विधायकों ने अपने को वीवीआईपी होने की बात कही थी. यही वजह थी कि उनके कमरे में आने की इंट्री नहीं की गई थी। इस मामले में बंगाल सीआईडी ने महेंद्र अग्रवाल को गिरफ्तार किया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 − one =