कोलकाता। कोलकाता के एक चिकित्सक ने शनिवार को कलकत्ता हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर मांग की कि 21 जुलाई को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के वार्षिक शहीद दिवस कार्यक्रम को राज्य में कोविड में हालिया वृद्धि को देखते हुए वर्चुअल प्रारूप में आयोजित किया जाए। पिछले दो वर्षों के दौरान, महामारी की स्थिति के कारण तृणमूल ने आभासी (वर्चुअल) प्रारूप में कार्यक्रम का आयोजन किया था। हालांकि, इस साल उन्होंने मध्य कोलकाता में इसके पुराने प्रारूप में वापस जाने का फैसला किया है, जिसे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा संबोधित किया जाएगा।

यह मानते हुए कि इस साल सभा एक बड़ा आकार लेगी, प्रतिष्ठित चिकित्सक संजीव कुमार मुखोपाध्याय ने जनहित याचिका दायर की, जिसमें कहा गया है कि एक समय में राज्य में कोविड-19 का ग्राफ लगभग 3,000 का आंकड़ा छू चुका है, ऐसे में शहीद दिवस के अवसर पर विशाल जनसमूह एक और सुपर स्प्रेडर बन सकता है। खंडपीठ ने जनहित याचिका को स्वीकार कर लिया है और इसकी सुनवाई 19 जुलाई को हो सकती है।

हालांकि, याचिकाकर्ता ने पिछले दो वर्षों की तरह कार्यक्रम को वर्चुअली नहीं किए जाने की स्थिति में कुछ संभावित सावधानियों का भी उल्लेख किया है।उनके अनुसार, सभा में प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित करना होगा कि वहां मौजूद प्रत्येक व्यक्ति मास्क पहने और सभा इस तरह से की जाए कि सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टेंस) बनी रहे।

उन्होंने बैठक स्थल के प्रत्येक प्रवेश बिंदु पर सैनिटाइजेशन चैनल स्थापित करने का भी आह्वान किया। याचिका के अनुसार, प्रशासन और संबंधित राजनीतिक दल को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि जिन वाहनों से 21 जुलाई को रैली में शामिल होने के लिए प्रतिभागी कोलकाता आएंगे, उन्हें ठीक से सैनिटाइज किया गया हो। वहीं दूर-दराज के जिलों से आए पार्टी समर्थकों के रहने के लिए बने अस्थाई शेल्टरों को भी ठीक से सेनेटाइज किया जाए।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × three =