जानिए घर में कहाँ होनी चाहिए पितरों, मृतकों की तस्वीरें..

पंडित मनोज कृष्ण, शास्त्री वाराणसी । अक्सर घरों में लोग अपने पितरों की फोटो जरूर लगाते हैं। माना जाता है कि घर में उनकी तस्वीर होने से घर-परिवार पर उनकी कृपा बनी रहती है। दिवंगत परिजनों के विषय में हमें वास्तुशास्त्र का अवश्य ध्यान रखना चाहिए। अपने पूर्वजों को सम्मान देने के लिए पहले घरों में पितरों की तस्वीरें लगाई जाती थी, हम अपने बच्चों को बचपन से संस्कार देते है तथा उन्हें हमारे अपने पूर्वजों/पितरों के चित्रों के माध्यम से उन्हें उनके बारे में बताते थे, आजकल आधुनिकता के युग में हम यह सब भूलते जा रहे है। घर में पितरों की फोटो/तस्वीर लगाने से उनकी कृपा – दृष्टि बनी रहती है तथा उनका आशीर्वाद प्राप्त होता रहता है।

किसी भी घर में पूर्वजों के चित्र सदा नैर्ऋत्य दिशा में लगाएं। ऐसे चित्र देवताओं के चित्रों के साथ न सजाएं। तस्वीर लगाते समय कुछ सावधानियाँ जरूर रखनी चाहिए क्योकि गलत जगह पर तस्वीर लगाने से हमें अशुभ परिणाम मिल सकते है। पूर्वजों की फोटो कभी भी देवताओं के साथ नहीं लगानी चाहिए, हमारे पूर्वज सम्मानीय होते है लेकिन वह देवी देवताओं का स्थान नहीं ले सकते।

घर की उत्तर-पश्‍चिम दिशा का संबंध सहायक व्यक्ति, मालिक, या आप पर उपकार करनेवाले व्यक्ति से होता है। पूर्वज आदरणीय एवं श्रद्धा के प्रतीक हैं, पर वे इष्ट देव का स्थान नहीं ले सकते। जीवित होते हुए अपनी न तो प्रतिमा बनवाएं और न ही अपने चित्रों की पूजा करवाएं। इसे किसी भी प्रकार शास्त्र सम्मत् नहीं माना जा सकता।

लेकिन इसमें अक्सर यह गलती हो जाती है कि बगैर सोचे समझे, किसी भी जगह पर अपने पितरों की फोटो रख देते हैं (लगा देते हैं) और किसी भी कमरे में टांग देते हैं लेकिन ऐसा करना वास्तु के लिहाज से गलत होता है और यदि यह फोटो आपने गलत दिशा या गलत तरह से टांगी है तो इसके अशुभ प्रभाव भी आप पर पड़ सकते हैं। इसलिए यह जानने बेहद जरूरी है कि पितरों की फोटो सही दिशा व सही कमरे में लगी हो।

* कभी भी भूलकर भी सोने के कमरे में और पूजा करने के स्थान पर पूर्वजों के चित्र नहीं लगाने चाहिए, यह अपशगुन माना जाता है।
*इसी प्रकार मंदिर में भी पूर्व की तस्वीर न लगाए, यह देवताओं का अपमान माना जाता है।
* शयन कक्ष में एवम पूजा घर में पूर्वजों के चित्र लगाना अपशगुन होता है।
* अपने पूर्वजों की तस्वीरें मंदिर में भूलकर भी न लगाएं।
* रसोई में भी मृत पितरों की फोटों न लगाएं।

* घर के बीचोंबीच के स्थान पर पितरों की फोटो नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करने से मान-सम्मान को हानि पहुंचती है।
* घर की पश्चिम दिशा में पितरों की फोटो नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करना अशुभ माना जाता है।
* पश्चिम दिशा में पितरों की फोटो लगाने से धन की हानि होती है। इसलिए इस दिशा में भी तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। लेकिन पश्चिम उत्तर के कोने में लगा सकते हैं।
* शास्त्र के अनुसार पितर पूजन के समय विशेष ध्यान यह रखें कि पितरों की पूजा दक्षिण की और चेहरा करके की जाती है इसलिए पूजन के समय (पितर पूजन) मृतक की फोटो भी दक्षिण की तरफ वाली दीवार का विधान है।

जोतिर्विद वास्तु दैवज्ञ
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री
9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 2 =