तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर । नागरिक प्रतिरोध मंच दक्षिण पूर्व रेलवे खड़गपुर मंडल शाखा की ओर से शुक्रवार को खड़गपुर डीआरएम ऑफिस के सामने विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के बाद पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने स्मार पत्र विभागीय कार्यालय में जमा कराया। मंच के नेताओं ने कहा कि विभिन्न ट्रेन सेवाओं की मांग को लेकर खड़गपुर डीआरएम कार्यालय में यह प्रदर्शन किया गया। ज्ञापन में दीघा-बेलदा-मेदिनीपुर-खड़गपुर-आमता-झारग्राम तथा हल्दिया लाइन पर सभी ट्रेनें पूर्व की तरह तत्काल शुरू करने की मांग की गई।

पहले की तरह रियायतें देने और रेलवे के निजीकरण और कर्मचारियों की संख्या कम करने के फैसले को वापस लेने की मांग पर विशेष रूप से जोर दिया गया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल से पहले दक्षिण पूर्व रेलवे की खड़गपुर शाखा में 191 ट्रेनें चला करती थी। लेकिन फिलहाल 156 ट्रेनें चलाई जा रही हैं, बाकी को जल्द शुरू किए जाने की जरूरत है। साथ ही रेलवे से लगे दुकानदारों को बिना पुनर्वास के बेदखल न करने की पुरजोर मांग भी रखी गई। एक्सप्रेस ट्रेनों में सामान्य बोगियां भी जोड़ी जानी चाहिए।

लोकल ट्रेन टिकट और मासिक टिकट तक पहुंच की मांग को लेकर आज विरोध प्रतिनियुक्ति का आयोजन किया गया था। समिति अध्यक्ष मधुसूदन बेरा ने डीआरएम कार्यालय के सामने विरोध रैली को संबोधित किया। संयुक्त सचिव सुरंजन महापात्रा और सरोज माईती ने रैली की अगुवाई की। विरोध के बाद मधुसूदन बेरा के नेतृत्व में पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने डीआरएम कार्यालय को ज्ञापन सौंपा। नेताओं ने कहा कि अगर मांग पूरी नहीं हुई तो नागरिक प्रतिरोध मंच की दक्षिण पूर्व रेलवे शाखा समिति के नेता फिर से एक बड़े आंदोलन के रास्ते पर चलेंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + 11 =