कोलकाता। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) (माओवादी) के प्रमुख सदस्य सम्राट चक्रवर्ती उर्फ नीलकमल सिकदर को असम में इकाइयां स्थापित करने के मामले में पश्चिम बंगाल में गिरफ्तार किया गया है। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को यह जानकारी दी। प्रवक्ता ने बताया कि उत्तर 24 परगना जिले में सेठ बागान रोड के रहने वाले चक्रवर्ती (37) को अमित, अरघा, निर्मल और निर्माण के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने बताया कि उसे कल्याणी एक्सप्रेसवे पर नारायण स्कूल के निकट माहिसपोटा से गिरफ्तार किया गया।

एनआईए ने बताया कि यह मामला पश्चिम बंगाल में माओवादियों के प्रमुख नेता अरुण कुमार भट्टाचार्जी उर्फ ज्योतिष उर्फ कबीर उर्फ कनक उर्फ कंचन दा की गिरफ्तारी से जुड़ा है। प्रवक्ता ने बताया कि भट्टाचार्जी भाकपा (माओवादी) का एक विचारक एवं रणनीतिकार है और केंद्रीय समिति का सदस्य है। उन्होंने बताया कि भट्टाचार्जी को असम में भाकपा (माओवादी) संगठन की स्थापना करने और राज्य में इसका प्रसार करने का काम सौंपा गया था।

एजेंसी ने दो सितंबर को गुवाहाटी में एनआईए की विशेष अदालत में भट्टाचार्जी सहित छह गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था। प्रवक्ता ने कहा कि मामले में आगे की जांच से पता चला कि आरोपी चक्रवर्ती पश्चिम बंगाल में स्थित भाकपा(माओवादी) संगठन का एक सक्रिय सदस्य था। वह भाकपा (माओवादी) संगठन के शीर्ष नेताओं और गिरफ्तार आरोपी भट्टाचार्जी के बीच गुप्त संचार का माध्यम था। भट्टाचार्जी असम में अपने ठिकाने से काम कर रहा था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 3 =