वाराणसी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विमानवाहक युद्धपोत ‘आईएनएस विक्रांत’ को भारतीय नौसेना में शामिल किया जाना, हिंद प्रशांत क्षेत्र में भारत की बढ़ती ताकत को दर्शाने वाला पहला कदम हैे। उत्तर प्रदेश में वाराणसी के दो दिवसीय प्रवास के दूसरे दिन शनिवार को सिंह ने काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन किया। इससे पहले उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि स्वदेशी तकनीक से निर्मित इतना विशाल विमानवाहक पोत बनाने वाला, भारत दुनिया का सातवां देश हो गया है। यह हिंद प्रशांत क्षेत्र में ताकतवर देश के रूप रूप में भारत की बढ़ती ताकत का पहला कदम है।

उन्होंने कहा कि भारत, सिर्फ रक्षा क्षेत्र में ही नहीं बल्कि अन्य सभी क्षेत्रों में भी आत्मनिर्भर बन रहा है। गौरतलब है कि प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंह की मौजूदगी में शुक्रवार को सिंह की मौजूदगी में भारतीय नाैसेना में आईएनएस विक्रांत को शामिल किया। पूरी तरह से स्वदेशी तकनीक से बने आईएनएस विक्रांत का निर्माण कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड ने किया है।

इससे पहले उन्होंने संकटमोचन मंदिर में भी दर्शन पूजन किया। यात्रा के पहले दिन सिंह ने एक पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम में भी शिरकत की। वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक ‘देखो हमरी काशी’ का विमाेचन सिंह की मौजूदगी में केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता दत्तात्रेय होसबोले ने शुक्रवार को किया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − six =