कोलकाता। देश में बढ़ती महंगाई और गेहूं की बढ़ती कीमत के बीच अब भारतीयों को एक और झटका लगा है। देश में चावल की कीमत (Rice price) में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है। डोमेस्टिक और ग्लोबल दोनों बाजारों में पिछले पांच दिनों में चावल की कीमत 10 फीसदी बढ़ गई है। दरअसल पड़ोसी देश बांग्लादेश की वजह से भारत में चावन महंगा हुआ है। बांग्लादेश आमतौर पर अपनी चावल की जरूरतों को भारत से खरीदकर पूरा करता है।

रिपोर्ट्स के अनुसार इन दिनों बांग्लादेश में चावल की किल्लत हो गई है। ऐसे में वहां चावल काफी महंगा होता जा रहा है। महंगाई पर लगाम लगाने के लिए पड़ोसी देश की सरकार ने भारत से चावल का आयात बढ़ाने के लिए ड्यूटी कम करने का फैसला लिया। बांग्लादेश सरकार ने चावल के आयात पर इंपोर्ट ड्यूटी और टैरिफ को 62.5 फीसदी से कम करके 25 फीसदी कर दिया है।

राइस एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बीवी कृष्ण राव ने इस बारे में बताया कि ‘पिछले पांच दिनों में, भारतीय गैर-बासमती चावल की कीमत वैश्विक बाजारों में 350 डॉलर प्रति टन से बढ़कर 360 डॉलर प्रति टन हो गई है। बांग्लादेश से खबर आने के बाद ऐसा हुआ है।’ पड़ोसी राष्ट्र ने 22 जून को एक अधिसूचना जारी की, जो 31 अक्टूबर तक गैर-बासमती चावल के आयात की अनुमति देती है। यह पहली बार है जब बांग्लादेश ने इतनी जल्दी भारत से चावल का आयात करना शुरू कर दिया है। चावल निर्यात प्रतिबंध की आशंकाओं के बीच ऐसा किया जा रहा है।

 

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 1 =