तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर :  लॉक डाउन 2.0 के  मुहाने पर खड़गपुर में  एक ही दिन कोरोना पॉजिटिव के चार नए मामलों ने नागरिक समाज के  साथ ही प्रशासनिक महकमे की  चिंताएं बढ़ा दी है। मरीजों का  पता लगने पर पुलिस ने संबद्ध इलाकों  को कंटेनमेंट जोन में  तब्दील करने की  व्यवस्था की  है। वहीं  खड़गपुर को कोरोना फ्री करने की मंशा के  साथ नई पेचीदिगियां भी जुड़ती नजर आ रही है। मार्च में  लॉक डाउन लागू होने के साथ ही शहरवासियों ने गरीबों की  मदद और नियमों के  पालन में  जबरदस्त जज्बे का  परिचय दिया था।

इस बीच दिल्ली से लौटे आरपीएफ जवानों के  संक्रमित होने से शहरवासियों और प्रशासन के  अभियान को झटका लगा था, लेकिन जल्दी ही परिस्थिति स्वाभाविक करने की  कोशिशें  भी शुरू हो गई। अनलॉक 1 के  पहले चरण तक कोरोना से हुई दो मौतें और कुछ नए संक्रमण से शहर को कोरोना फ्री बनाने का अभियान फिर बाधित हुआ, लेकिन अन लॉक की  बदौलत जनजीवन तेजी से स्वाभाविक होती भी  नजर आने लगी।

लेकिन विगत शुक्रवार को  शहर में  कोरोना पॉजिटिव के  चार नए मामलों के  खुलासे  से हर तरफ बेचैनी का  माहौल है। ताजा मामले का  चिंताजनक पहलू यह है कि पीड़ित शहर के  अलग-अलग मोहल्लों के  हैं। यह पूर्व के  आरपीएफ जवानों के  संक्रमित होने की  घटना से काफी अलग है।

क्योंकि संबंधित जवान एक साथ दिल्ली से यात्रा कर लौटे थे लेकिन ताजा मामलों की परिस्थितियां भिन्न है। इसलिए प्रशासन को भी नए मामलों के  बाद फूंक-फूंक कर कदम उठाना पड़ रहा है। ताजा घटनाओं ने सोशल डिस्टेशिंग समेत अन्य नियमों के पालन पर लोगों को मूल्यांकन के लिए सोचने को भी मजबूर कर दिया है। एस डी ओ वैभव चौधरी ने कहा कि घटनाक्रम पर नजर रखी जा रही है। नियमों के  पालन और   संदिग्धों की टेस्टिंग को प्राथमिकता दी जा रही है।

 

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + ten =