क्या आपके भी घर में है कलेश, जानिए सरल उपाय

हर घर में छोटा मोटा तनाव तो चलता है लेकिन जब ये हद से ज्यादा बढ़ जाए तो जीवन की शांति चली जाती है, बसा घर भी टूटने की नौबत पर आजाता है। ये भी कहा जाता है की जिस घर में ज्यादा कलेश होता है वहा माता लक्ष्मी का कभी वास नहीं होता है। हर किसी के अपने ग्रह जीवन में सुख और कामना की इच्छा होती है क्योंकि घर और जीवन की खुशहाली ही व्यक्ति को प्रगति के मार्ग पर ले जाती है। क्या आपके भी घर में है कलेश! तो जानिए घर के कलह-क्लेश कैसे दूर करे।

कई बार आपसी तालमेल अच्छा होने के बावजूद कई घरों में कलह-क्लेश का महौल बना रहता है। क्या आप जानते हैं ऐसा क्यों होता है? ऐसी स्थिति कुंडली में बैठे कौन से ग्रह जिम्मेदार होते है।

घर मे यदि सुबह क्लेश होता है तो क्या करें?
-सुबह के क्लेश की दो मुख्य वजह होती है एक तो पीड़ित ग्रह और दूसरा पित्र दोष।

-घर मे वास्तुदोष का होना भी बहुत बड़ा कारण है जैसे घर के ठीक सामने कोई गंदगी का ढेर हो या घर के उत्तर पूर्व में टॉयलेट का होना।

-हमेशा पश्चिम या उत्तर दिशा में सिर करके सोना।

– घर के मंदिर में साफ सफाई न होना तथा कुंडली मे सूर्य का पापी ग्रहों से पीड़ित होना।

उपाय- घर के मंदिर को साफ रखें हर रोज मन्दिर में धूप दीप जलायें।

– सुबह के समय भगवान गणपति के किसी भी स्तोत्र का पाठ करें।

-सुबह हमेशा साफ सुथरे कपड़े ही पहने।

घर में यदि दोपहर में कलह कलेश होता है तो क्या करें?
– घर में दोपहर के समय कलह कलेश होने का मुख्य कारण आपके ग्रह जिम्मेदार होते हैं।

– आपकी जन्मपत्रिका में सूर्य नीच अवस्था में हो या सूर्य राहु या सूर्य केतु की युति हो या फिर सूर्य शनि का एक साथ होना।

– आपकी जन्मपत्रिका के चौथे भाव में पापी ग्रह जैसे शनि मंगल राहु हो।

उपाय : हर रोज सूर्य को सुबह के समय तांबे के लोटे से जल में शक्कर डालकर अर्घ्य दें।

– लाल आसन पर बैठकर 108 बार गायत्री मंत्र का जाप रुदाक्ष की माला से करें।

-घर में यदि शाम के समय क्लेश होता है तो क्या करें?
– घर में शाम के समय क्लेश का मुख्य कारण पितर दोष और गंदगी होता है।

– यदि आप अपने घर के सोने के कमरे में गंदगी रखते हैं और सारा सामान कपड़े आदि इधर-उधर बिखरे रहते हैं तो शाम के समय क्लेश निश्चित है।

– यदि आप पितरों के लिए हर अमावस्या पर कुछ दान नहीं करते हैं तो भी शाम के समय क्लेश निश्चित है।

– यदि आपके रसोई घर में आग और पानी के बीच में फासला नहीं है।

उपाय : प्रतिदिन शाम को घर के मुख्य द्वार पर तिल के तेल का एक दिया जरूर जलाएं।

– हर अमावस्या पर पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल या तिल के तेल का दीया जरूर जलाएं।

– अमावस्या पर जरूरतमंद लोगों को घर का बना हुआ खाना जरूर बाटें।

– घर में शाम के समय किसी भी कमरे में अंधेरा ना रखें।

घर में यदि रात के समय क्लेश होता है तो क्या करें?
– घर में रात के समय क्लेश का मुख्य कारण शनि ग्रह और जन्म पत्रिका का चौथा भाव होता है।

– आपकी जन्मपत्रिका में यदि शनि मेष राशि में है और चतुर्थ भाव में पापी ग्रह विद्यमान है।

– आप अपने घर में शाम के समय सोते रहते हैं और शाम के समय घर पर भोजन नहीं बनाते।

उपाय : प्रतिदिन घर में शाम के समय गूगल लोबान की धूनी दें।

– रात में सोने से पहले अपने कमरे में देसी कपूर अवश्य जलाएं।

– रात में सोने के कमरे में पानी ना रखें।

– सम्भव हो तो अपने सोने के कमरे में इलेक्ट्रॉनिक सामान भी ना रखें।

सभी प्रकार की समस्या का समाधान के लिए इस नंबर पर संपर्क करें।
कॉल एंड व्हाट्सएप्प
9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − thirteen =