ना भूलें बड़ों को प्रणाम करने की संस्कृति : देवाशीष चौधरी

तारकेश कुमार ओझा , खड़गपुर : त्योहार जीवन में खुशियाँ लाते हैं । विजयादशमी के बाद विजया सम्मेलन कराने की हमारी परंपरा है और बड़ों को प्रणाम करने की संस्कृति । समय की भाग दौड़ में हम यह भूलते जा रहे हैं । यह बात खड़गपुर के वरिष्ठ तृणमूल कांग्रेस नेता , पूर्व सभासद और टीएमसी की जिला समिति के मीडिया प्रभारी देवाशीष चौधरी ने कही । वे शहर के टाउन हाल में आयोजित विजया मिलन समारोह में बोल रहे थे । उन्होंने कहा कि खास तौर से नई पीढ़ी को इसे आत्मसात कर लेना चाहिए कि बड़ों को प्रणाम करने की हमारी संस्कृति बड़ी समृद्ध है । इसलिए सभी बड़ों को मेरा प्रणाम है।

समारोह में उपस्थित अन्यान्य प्रमुख लोगों में कलमकार सुनील माझी व अवकाश प्राप्त प्रधानाध्यापक पद्माकर पांडेय आदि शामिल रहे । अपने संबोधन में वक्ताओं ने कहा कि अंधेरे से प्रकाश की ओर जाना ही जीवन संघर्ष है । त्योहार की खुशियाँ मनाना भी इसी संघर्ष की परंपरा है । क्योंकि लंबे इंतजार और प्रतिकूल परिस्थितियों के बाद आते हैं । समारोह कोरोना काल के नियमों का पालन करते हुए आयोजित किया गया । लोगों में मिष्ठान्न के साथ मॉस्क और सेनिटाइजर वितरित किया गया । समारोह में रंगारंग व सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × five =