झारखंड के जामताड़ा समेत तीन शहरों में दिल्ली की साइबर पुलिस का छापा

बैंक अकाउंट्स से लाखों उड़ानेवाले डेढ़ दर्जन साइबर अपराधी गिरफ्तार

रांची। आपके बैंक अकाउंट से अगर फ्रॉड तरीके से रकम की निकासी हुई है तो सबसे पहली आशंका यही है कि इसके पीछे झारखंड में सक्रिय साइबर क्रिमिनल्स का हाथ है। ऐसे क्रिमिनल्स की तलाश में नई दिल्ली से साइबर क्राइम ब्रांच की स्पेशल टीम ने पिछले चार दिनों में झारखंड में कई जगहों पर छापामारी की है। झारखंड के धनबाद, रामगढ़ और जामताड़ा से अब तक डेढ़ दर्जन से ज्यादा साइबर क्रिमिनल को गिरफ्तार किया जा चुका है। शुक्रवार को धनबाद से छह और इसके पहले 23 मार्च को रामगढ़ से छह साइबर क्रिमिनल पकड़े गए हैं। इन क्रिमिनल्स ने अलग-अलग लोगों के बैंक अकाउंट से लगभग 50 लाख रुपये उड़ाए हैं।

दिल्ली साइबर क्राइम ब्रांच टीम के अफसर मनोज कुमार ने बताया कि नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर बैंक अकाउंट से ऑनलाइन पैसे उड़ाने की कुल 51 शिकायतें दर्ज हैं। इनकी जांच के दौरान यह पाया गया कि फ्रॉड के ज्यादातर मामलों में जिन मोबाइल नंबर का इस्तेमाल किया गया है, उनके लोकेशन झारखंड में हैं। हालांकि जांच के दौरान यह पाया गया है कि साइबर क्रिमिनल गैंग ने देश के कई शहरों में अपने कॉल सेंटर बना रखे हैं। झारखंड के अलावा सूरत, कोलकाता सहित सात शहरों में अलग-अलग टीमें छापामारी कर रही हैं।

बताया गया कि रामगढ़ शहर स्थित होटल ब्लू डायमंड से आठ साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। ये लोग होटल में कमरा लेकर साइबर फ्रॉड को अंजाम दे रहे थे। उधर धनबाद में शुक्रवार को साइबर सेल की टीम ने बरोरा थाना क्षेत्र के मुराईडीह से विनोद गोप और प्रमोद गोप को पकड़ा है। इसके बाद इनके चार अन्य साथियों को धनबाद के दूसरे इलाकों से गिरफ्तार किया गया। इनके अलावा जामताड़ा से भी चार लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + two =