कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हुए व्यापक हिंसा के मामले में केन्दय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने बीरभूम तृणमूल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अनुब्रत मंडल और उनके करीबी नेताओं और विधायकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। कोलकाता में अनुब्रत मंडल से पूछताछ के बाद अब सीबीआई भाजपा नेता की हत्या मामले में उनके करीबी नेताओं को तलब कर पूछताछ कर रही है। इस कड़ी में बीरभूम जिले के मयूरेश्वर विधानसभा क्षेत्र के विधायक और तृणमूल नेता अभिजीत रॉय सोमवार को दुर्गापुर में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में अस्थायी सीबीआई शिविर में हाजिर हुए। सीबीआई अधिकारियों ने बीजेपी कार्यकर्ता गौरव सरकार की हत्या के संबंध में उनसे पूछताछ की।

अनुब्रत मंडल के करीबी तृणमूल कार्यकर्ताओं से पिछले कुछ दिनों से दुर्गापुर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान स्थित सीबीआई के अस्थायी शिविर में पूछताछ की जा रही है। पता चला है कि घटना वाले दिन सभी ने अनुब्रत मंडल से फोन पर बात की थी। रविवार की सुबह गुस्करा नंबर 2 जोन के अध्यक्ष तापस चटर्जी भी सीबीआई कैंप में हाजिर हुए। इसके साथ ही इलमबाजार प्रखंड तृणमूल अध्यक्ष फजलुर रहमान भी सीबीआई कार्यालय में हाजिर हुए थे। सीबीआई अधिकारियों ने उन लोगों से पूछताछ की थी। पूछताछ के बाद फजलुर रहमान ने कहा कि उन्हें परेशान करने के लिए बुलाया गया था। हालांकि उन्होंने कहा कि सीबीआई जितनी बार बुलाएगी, वह आ जाएंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 15 =