विशाल की श्रेष्ठ कहानी : “जीने की वजह”

 “जीने की वजह” सुबह उठा तो धूप खिल चुकी थी। चाय की चुस्की के बाद

वास्तुकला प्रदर्शनी : वास्तुकला के छात्रों की असाधारण प्रतिभा और समर्पण का प्रमाण

वास्तुकला संकाय में दो दिवसीय वास्तुकला प्रदर्शनी “संग्रह” का हुआ भव्य शुभारम्भ लखनऊ। वास्तुकला एवं

जीवन के अनुभव से प्रेरित एक अनोखी चित्रकला प्रदर्शनी

श्रीलंकाई चित्रकार के. मैथिस कुमार की दो दिवसीय एकल प्रदर्शनी “पावर्टी एंड प्रोस्पेरिटी” राज्य ललित

देखो खिल-खिल मुस्काता कदम्ब फूल

श्रीराम पुकार शर्मा, हावड़ा। कदंब का पेड़, जिसे ‘प्रेम का वृक्ष’ भी कहा जाता है।

ठहर गईं…बोलतीं रेखायेँ!!, वरिष्ठ कार्टूनिस्ट गणेश चंद्र दे का निधन

लखनऊ। कहा जाता है कि एक चित्रकार का चित्र बनाना वास्तव में उसके अपने आसपास

कोलकता और हावड़ा की शान, मैं हावड़ा पुल हूँ

श्रीराम पुकार शर्मा, हावड़ा। मैं देश भर में प्रसिद्ध ‘प्रलम्बित बाहुधरण (Suspension type Cantilever Bridge)

मलेशिया के कुआलालंपुर में छठा अंतर्राष्ट्रीय कला महोत्सव सम्पन्न

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : थर्ड आई आर्टिस्ट ग्रुप की पहल पर कुआलालंपुर मलेशिया में

अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर पुरस्कृत हुए वास्तुकला संकाय के तीन छात्र

राज्य संग्रहालय में वास्तुकला एवं योजना संकाय के उत्कर्ष गुप्ता, शिवम त्रिपाठी व अभिनन्दिता गुप्ता

छात्रों ने राज्य संग्रहालय के मूर्ति शिल्पों को उतारा अपने कैनवस पर

अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस के अंतर्गत आयोजित हुए कई कार्यक्रम पेंटिंग, स्केचिंग प्रतियोगिता में चयनित छात्रों

जनजातीय कला शिविर के पश्चात शिविर में बनी कलाकृतियों की प्रदर्शनी सराका आर्ट गैलरी में लगाई गई

देश के चार प्रदेशों से आए लोक व जनजातीय कलाकारों का हुआ सम्मान, सभी लोककला