बेंगलुरु। कर्नाटक के पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता केएस ईश्वरप्पा (KS Eshwarappa) एक बार फिर अपने बयान को लेकर विवादों में हैं। ईश्वरप्पा ने कहा- इसमें कोई शक नहीं है कि RSS का झंडा एक दिन राष्ट्रीय ध्वज बनेगा। उन्होंने कहा कि भगवा बलिदान का प्रतीक है। हजारों साल से लोगों के मन में भगवा के प्रति सम्मान है, इसीलिए केसरिया झंडे के सामने RSS प्रार्थना करता है। उन्होंने यह भी कहा कि संविधान के अनुसार, तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज है और हम उसे वह सम्मान देते हैं जो उसे देना चाहिए। इसी साल फरवरी में कर्नाटक विधानसभा में भी ईश्वरप्पा ने ऐसा ही बयान दिया था जिस पर काफी बवाल हुआ था।

कर्नाटक के पूर्व मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने कहा, ‘भगवा के लिए सम्मान आज या कल से नहीं शुरू हुआ। हजारों साल से इसका सम्मान किया जाता रहा है। भगवा झंडा त्याग की निशानी है… आरएसएस का झंडा एक दिन राष्ट्रीय ध्वज बनेगा, इसमें कोई शक नहीं है।’ बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के विधायक केएस ईश्वरप्पा ने पहले भी कई बार भगवा झंडे को लेकर बयान दे चुके हैं। कुछ समय पहले ही ईश्वरप्पा ने कहा था कि भविष्य में तिरंगे की जगह भगवा झंडा ले सकता है। आने वाले समय में लाल किले में भगवा झंडा फहराया जाएगा। हालांकि इसमें अभी काफी वक्त लग सकता है।

यूपी सरकार के मदरसे में राष्ट्रगान अनिवार्य करने के मुद्दे पर भाजपा विधायक केएस ईश्वरप्पा ने हमारे देश में अब एंटी नेशनल भी राष्ट्रगान गाते दिखेंगे। उन्होंने आगे कहा था कि जो समुदाय आतंकी तैयार करता है, अब उस समुदाय के लोग भी राष्ट्रगान गाएंगे। ईश्वरप्पा ने ठेकेदार से कमीशन की मांग की थी। कर्नाटक सरकार में ईश्वरप्पा ग्रामीण विकास और पंचायती राज्य मंत्री थे।

उन पर एक ठेकेदार को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगा था। आरोप लगाया गया था कि ईश्वरप्पा ने ठेकेदार से कमीशन मांगा था, जिसके बाद ठकेदार ने पीएम और सीएम से शिकायत की थी। जब सुनवाई कहीं नहीं हुई तो उसने परेशान होकर सुसाइड कर लिया था। इसी मामले के चलते ईश्वरप्पा को मंत्रीपद से इस्तीफा देना पड़ा था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − 7 =