उत्तराखंड ग्लेशियर हादसे के बाद लापता हुए बिहार के इंजीनियर, ढूंढने के लिए निकले परिजन

बिहटा  : उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में रविवार की दोपहर ग्लेशियर फटने से आसपास के इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गयी हैै। स्थिति भयावह होता देख उत्तराखंड सरकार ने रेस्क्यू कार्य शुरू कर दिया है। उत्तराखंड पुलिस और आईटीबीपी के जवानों द्वारा लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। अब तक 25 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है, जबकि कई लोग अब भी फंसे हुए हैं। वहीं, कई भी लापता हैंं। इधर, इस हादसे में बिहार की राजधानी पटना के बिहटा में रहने के वाले इंजीनियर मनीष कुमार भी लापता हो गए हैंं। मिली जानकारी अनुसार बिहटा के रानीतलाब थाना के निसरपुरा गांव निवासी मनीष कुमार के घर देर शाम उत्तराखंड से फोन आया कि हादसे के बाद मनीष लापता हो गया हैै।

यह सुनते ही घर वालों के होश उड़ गए। आननफानन वो उनकी खोजबीन के लिए हरिद्वार रवाना हो गए हैंं।बता दें कि उक्त गांव निवासी स्व. मदन मोहन सिंह के बेटे इंजीनियर मनीष कुमार (28) हरिद्वार में जोशीमठ के नजदीक ओम मेटल इंफ्राटेक पावर प्रोजेक्ट कम्पनी में काम करते हैं लेकिन रविवार की दोपहर ग्लेशियर फटने के बाद आए तेज पानी के बहाव और मलवा में वो लापता हो गए हैं। मिली जानकारी अनुसार वो वहां पिछले तीन वर्षों से काम कर रहे हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − eight =