बिहार चुनाव : नीतीश कुमार 15 साल मुख्यमंत्री रहने के बाद फिर अगली पारी के लिए तैयार

पटना : बिहार विधानसभा विधानसभा चुनाव-2020 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन 125 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत के साथ जीत गई है। इस जीत के साथ नीतीश कुमार इतिहास रचने वाले हैं। नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर सातवीं बार शपथ लने वाले हैं। नीतीश कुमार ने भले ही 2005 में बिहार के मुख्यमंत्री बने थे लेकिन इससे पहले वो 2000 में भी बिहार सीएम पद की शपथ ले चुके थे। हालांकि हफ्ते भर बाद दी उनकी सरकार बहुमत साबित ना कर पाने की वजह से गिर गई थी। आइए जानें नीतीश कुमार बिहार के सीएम कब-कब बने?

नीतीश कुमार 3 मार्च 2000 को मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन इस वक्त नीतीश कुमार सिर्फ सात दिनों के लिए सीएम बनें थे। बहुमत ना होने की वजह से उनकी सरकार गिर गई थी। नीतीश कुमार दूसरी बार मुख्यमंत्री 24 नवंबर 2005 को बने। इस बार उन्होंने पांच साल तक सरकार चलाई।तीसरी बार नीतीश कुमार ने 26 नवंबर 2010 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।साल 2014 में लोकसभा चुनावों हार के बाद नीतीश कुमार ने फिर सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। उस वक्त उनका ये नैतित फैसला माना गया था। नीतीश ने जीतनराम मांझी को बिहार का मुख्यमंत्री बनाया था। लेकिन फिर चौथी बार नीतीश कुमार ने 22 फरवरी 2015 को सीएम बने।

बिहार चुनाव में नीतीश कुमार की अगुवाई एनडीए 125 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत तो मिला, लेकिन इस चुनाव में जेडीयू को बड़ा झटका लगा है। बिहार में नीतीश कुमार एनडीए में एक तरफ छोटे भाई की भूमिका में आ गए हैं। वहीं, नीतीश सरकार के 10 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा है। जेडीयू कोटे के 14 मंत्री चुनावी मैदान में उतरे थे। इसमें से 6 जीत सके और 8 को हार का सामना करना पड़ा है। वहीं, जबकि बीजेपी कोटे के 10 मंत्री चुनावी मैदान में उतरे थे। इसमें से 8 को जीत मिली है और दो को हार का सामना करना पड़ा है।

 

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =