एड्स पर अमेरिका की जवाबदेही तय नहीं की गई तो हमसे सवाल क्यों ?

फोटो साभार : गूगल

पेइचिंग : दुनियाभर में कोरोना के कहर के बीच चीन औऱ अमेरिका में जुबानी जंग भी तेज हो गई है। एक तरफ अमेरिका कोरोना के लिए चीन को जिम्मेदार ठहरा रहा है तो दूसरी ओर चीन इससे इनकार करता रहा है।कोरोना को लेकर छिड़ी जुबानी जंग के बीच चीन ने अमेरिका पर जोरदार प्रहार किया है।

दरअसल, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को आगाह किया है कि अगर यह पाया गया कि वह कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को फैलाने का जिम्मेदार है और उसे इसके बारे में जानकारी थी तो उसे इसके नतीजे भुगतने होंगे।चीनी विदेश मंत्रालय ने इसपर जवाब दिया है।

मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि 2009 में एच1एन1 फ्लू की शुरुआत हुई और वह दुनिया के 214 देशों व क्षेत्रों में फैला, इससे दुनिया में कोई 2 लाख लोगों की जान गई। क्या किसी ने अमेरिका से मुआवजे की मांग की?’ वह यहीं नहीं रुके 80 के दशक में फैले एचआईवी को लेकर भी अमेरिका पर निशाना साधा और कहा कि एड्स की खोज सबसे पहले 1980 के दशक में अमेरिका में हुई थी और पूरी दुनिया में फैली, जिससे पूरी दुनिया में चिंता बढ़ गई

। क्या किसी ने अमेरिका को जवाबदेह ठहराया?’ चीनी विदेश मंत्रालय यहीं नहीं रुका इसने 2008 की वैश्विक मंदी के लिए भी अमेरिका को जिम्मेदार ठहराते हुए उसपर गंभीर संवाल किए। प्रवक्ता ने नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के प्रफेसर किशोर महबूबानी के एक वक्तव्य का हवाला देते हुए कहा कि अमेरिका में लीमैन ब्रदर्स के गिरने से 2008 में वैश्विक आर्थिक संकट पैदा हुआ, लेकिन किसी ने अमेरिका से नहीं कहा कि आपको इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + three =