रोहिंग्या मुसलमानों को अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने में मदद के लिए 6 गिरफ्तार

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

नई दिल्ली । राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मानव तस्करी रैकेट के संबंध में 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल ये रैकेट रोहिंग्या मुसलमानों को भारत में प्रवेश करने और जाली दस्तावेजों के आधार पर बसने में मदद कर रहा था। यह गिरोह असम, पश्चिम बंगाल, मेघालय और देश के अन्य हिस्सों के सीमावर्ती इलाकों में सक्रिय है। NIA ने असम, मेघालय और कर्नाटक में कई स्थानों पर तलाशी ली। आरोपियों की पहचान गिरोह के मुखिया कुमकुम अहमद चौधरी उर्फ केके अहमद चौधरी उर्फ असिकुल अहमद और सहालम लस्कर, अहिया अहमद बापन अहमद चौधरी और जमालुद्दीन अहमद चौधरी के रूप में हुई है। NIA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि यह मामला जाली भारतीय पहचान दस्तावेजों के आधार पर रोहिंग्या मुसलमानों को भारतीय क्षेत्र में फिर से बसाने के लिए उनकी अवैध तस्करी से संबंधित है।

NIA ने दिसंबर में इस संबंध में सूचना मिलने के बाद मामला दर्ज किया था। मामला आईपीसी की धारा 370 और 370 (ए) के तहत दर्ज किया गया। एनआईए ने कहा कि रैकेट का मास्टरमाइंड चौधरी बेंगलुरु से इस अवैध तस्करी नेटवर्क को संचालित कर रहा था। इस रैकेट के अन्य सक्रिय सदस्य देश के विभिन्न हिस्सों में फैले हुए हैं। एनआईए अधिकारी ने शुक्रवार को कहा, “आज चौधरी समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आज की गई तलाशी के दौरान बड़ी संख्या में आपत्तिजनक दस्तावेज, लेख और डिजिटल उपकरण जब्त किए गए।” इस मामले में आगे की जांच की जा रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 − 2 =