नयी दिल्ली। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के मुख्य आरोपियों में से एक अबू बकर अब्दुल गफूर शेख को करीब तीन दशक की खोज बीन के बाद गिरफ्तार कर लिया है। बीअबू बकर 1993 के हमले के मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम का करीबी सहयोगी है और वह धमाकों का एक प्रमुख साजिशकर्ता है। 12 मार्च, 1993 को हुए इन विस्फोटों में 257 लोग मारे गए थे। उल्लेखनीय है कि मुंबई में 12 अलग अलग जगहों पर हुए सिलसिलेवार हमलों ने मुंबई (तब बॉम्बे) को हिलाकर रख दिया था। यह भारत में हुए सबसे बड़े आतंकी हमलों से एक था।

सूत्रों ने बताया कि बकर पाकिस्तान अधिकृत कशमीर (पीओके) में हथियारों और विस्फोटकों के प्रशिक्षण देने, दुबई में दाऊद इब्राहिम के आवास पर विस्फोटों की साजिश रचने और योजना बनाने में शामिल था।मुंबई धमाकों को दाऊद इब्राहिम द्वारा समन्वित किया गया था। इस हमले को टाइगर मेमन और याकूब मेमन के माध्यम से अंजाम दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि कारोबार में दिलचस्पी रखने वाला बकर खाड़ी देशों से मुंबई में सोने और इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों की तस्करी में भी शामिल रहा है। सूत्रों के मुताबिक उसके प्रत्यर्पित कर के भारत लाए जाने की संभावना है, हालांकि इस संबंध में तत्काल कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight + seven =