कोलकाता। देश के अन्य राज्यों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के मामले में इजाफा के देखने को मिला। वहीं, पिछले 24 घंटे में दो लोगों की मौत से राज्य प्रशासन चिंतित है।इस बीच कलकत्ता मेडिकल कालेज एंड हा‍ॅस्पिटल में पिछले दो दिनों में 18 छात्र कोरोना संक्रमित हुए हैं। इस बीच सोमवार (27 जून) को एमबीबीएस के तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा है। कोरोना संक्रमितों के लिए अलग कमरे में परीक्षा देने की व्यवस्था की गई है। बाकी को रैपिड एंटीजन टेस्ट के बाद परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने दिया जाएगा।

बता दें कि 2020 में जब कोरोना की पहली लहर आई थी तो एक के बाद एक डाक्टर और स्वास्थ्यकर्मी बड़ी संख्‍या में कोरोना संक्रमित हुए थे। स्थिति से निपटने के लिए कई अस्पतालों को कुछ दिनों के लिए बंद करना पड़ा था। अब फिर से कोरोना के मामले बढऩे शुरू हुए हैं। कलकत्ता मेडिकल कालेज अस्पताल के छात्रावास में कोरोना ने धावा बोला है। शुक्रवार को आठ छात्रों की जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। इसके बाद 10 और लोगों की रिपोर्ट पॅजिटिव आई।

शनिवार को कलकत्ता मेडिकल कालेज अस्पताल के माइक्रोबायोलाजिकल लैब में 35 लोगों के सैंपल भेजे गए थे, जिनमें से 10 की रिपोर्ट पाजिटिव आई। अभी तक कोरोना संक्रमित हरेक छात्र में हल्के लक्षण पाए गए हैं। डाक्टरों की सलाह पर उन्हें क्वारंटाइन में रखा गया है। कई अन्य में लक्षण दिख रहे हैं, उन्हें भी जांच कराने के लिए कहा गया है। बंगाल में शनिवार को कोरोना संक्रमण से दो लोगों की मौत हो गई थी। राज्य सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। मास्क पहनने के लिए जागरुकता फैलाई जा रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + eleven =